कोरोना संकट ख़त्म करने के लिए मंदिर के पुजारी ने युवक के साथ की ये हैवानियत, हुआ अरेस्ट

 कोरोना संकट ख़त्म करने के लिए मंदिर के पुजारी ने युवक के साथ की ये हैवानियत, हुआ अरेस्ट

ओडिशा में कोरोना वायरस महामारी के बीच एक दंग कर देने वाला मुद्दा प्रकाश में आया है। कटक जिले के नरसिंहपुर में एक मंदिर के पुजारी ने एक युवक को मारकर देवी मां को इसलिए चढ़ा दिया कि इससे कोरोना संकट ख़त्म हो जाएगा। बुधवार रात नरसिंहपुर के भीतर आने वाले बंधहुडा गांव में ब्राह्मणी देवी मंदिर परिसर के अंदर से एक आदमी का मृत शरीर बरामद हुआ।

स्थानीय पुलिस ने मर्डर में शामिल हथियार को बरामद कर लिया है। पुलिस ने मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचा दिया है। पुजारी ने अपना क्राइम भी स्वीकार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर मुद्दे की जाँच शुरुआत कर दी है। आरोपी का नाम संसारी ओझा है व आयु 72 साल है। एसपी कटक राधा विनोद ने इस मुद्दे पर बोला है कि पुरानी प्रतिद्वंद्विता के चलते यह घटना हुई है। हमने मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचा दिया है। मुद्दे की जाँच जारी है।

मृतक की पहचान सरोज कुमार प्रधान के रूप में हुई है। आरोपी के अनुसार मंदिर में बलि को लेकर मृतक के साथ उसकी बहस हुई। जब दशा बिगड़ गए तो आरोपी ने सरोज कुमार को मौके पर ही मार डाला। आरोपी ने पूछताछ में बोला कि उसे सपने में भगवान से आदेश मिला था कि यदि नरबलि दी जाए तो कोरोना वायरस संकट ख़त्म हो जाएगा। पुलिस अधिकारियों का दावा है कि अरोपी व मृतक प्रधान के बीच पिछले लंबे समय से आम के बागीचे को लेकर पुरानी रंजिश चलती आ रही है।