जाने आखिर अमेरिका में जेल तोड़कर भीड़ ने दो लोगों को निकाला बाहर और पार्क में लटकाया जिंदा

जाने आखिर अमेरिका में जेल तोड़कर भीड़ ने दो लोगों को निकाला बाहर और पार्क में लटकाया जिंदा

अमेरिका से ही लिंचिंग की उत्पत्ति हुई यह कहना गलत नहीं होगा. अमेरिका के इतिहास को उठाकर देखें तो विश्व के सबसे पुराने लोकतंत्र में लिंचिंग के सबसे अधिक मामले का जिक्र मिलता है. एक ऐसा ही मामला कैलिफ़ोर्निया 26 नवंबर 1933 को सामने आया था जब एक भीड़ ने हत्या के दो आरोपियों को जेल तोड़कर बाहर निकाला था और फिर उन्हें पार्क में जिंदा टंगा दिया था, जिससे इन दोनों की मौत हो गई थी. इसके बाद वहां लोगों ने इन दोनों की मृत लाशों के साथ फोटो लिए थे.

कैलिफ़ोर्निया के सैन होज़े में लोगों की भीड़ ने उस जेल को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया जिसमें थॉमस थरमंड और जॉन होम्स को रखा गया था. इन दोनों पर आरोप था कि उन्होंने स्थानीय स्टोर के मालिक के 22 वर्षीय बेटे ब्रुक हार्ट का अपहरण करके उसकी हत्या कर दी थी. 9 नवंबर 1933 को ब्रुक हार्ट को उनके स्टुडबेकर से अपहरण कर लिया गया था.


इसके बाद अपहरण करने वाले ने उनके परिवार से $ 40,000 फिरौती की मांग की. इसके कुछ देर बाद हार्ट का बटुआ पास के एक खाड़ी में एक टैंकर जहाज पर पाया गया. पुलिस ने मामले की जांच की और उनकी जांच होम्स और थरमंड तक पहुंची. पुलिस ने इन दोनों से अलग अलग पूछताछ कि जिसमें दोनों ने अलग अलग बयान दिए और फंस गए. हालांकि, दोनों ने स्वीकार किया कि हार्ट को पिस्तौल की बट से मारा गया था और उसके बाद सैन मेटो ब्रिज से फेंक दिया गया था.

25 नवंबर को जब हार्ट का शरीर किनारे पर मिला तो एक भीड़ बनने लगी थी. समाचार पत्रों ने एक लिंचिंग की संभावना की सूचना दी और स्थानीय रेडियो स्टेशनों ने योजना का प्रसारण किया. लेकिन गवर्नर जेम्स रॉल्फ ने सहायता भेजने के नेशनल गार्डस को भेजने की पेशकश को अस्वीकार कर दिया. उन्होंने कथित तौर पर कहा कि वह लिंचिंग में शामिल लोगों को क्षमा करेंगे.

26 नवंबर को, गुस्साई भीड़ ने जेल में धावा बोल दिया और गार्ड्स को पीटा, एक बैटरिंग राम का उपयोग करके सलाखों को तोड़ दिया. इसके बाद भीड़ थरमंड और होम्स को घसीटकर लाई और बाहर पार्क में एक बड़े पेड़ से लटका दिया गया.

वहीं कैलिफ़ोर्निया की आम जनता से भीड़ द्वारा इतनी बुरी तरह से किसी व्यक्ति की मौत का स्वागत किया. घटना के बाद, थरमंड और होम्स को जिस रस्सी से लटकाया गया था, उसके टुकड़े जनता को बेचे गए. वहीं सैन जोस समाचार ने लिंचिंग की तस्वीरों को प्रकाशित करने से इनकार कर दिया और उसने इस कृत्य की निंदा की .

सत्रह वर्षीय एंथनी कैटाल्डी ने दावा किया था कि वो भीड़ का नेता था, लेकिन उसकी भागीदारी के लिए उसे जिम्मेदार नहीं ठहराया गया था. दूसरी तरफ स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर ने अपने छात्रों से लिंचिंग करने वाले लोगों का स्वागत करने और उनके लिए तालियां बजाने को कहा. राज्य के गवर्नर रॉल्फ ने सार्वजनिक रूप से भीड़ की प्रशंसा की. गवर्नर रॉल्फ ने कहा,"देश का अब तक का सबसे अच्छा सबक."


महिला ट्रेनर ने मगरमच्छ के साथ किया खतरनाक स्टंट, बाल-बाल बची जान

महिला ट्रेनर ने मगरमच्छ के साथ किया खतरनाक स्टंट, बाल-बाल बची जान

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे देख आप हैरान हो जाएंगे। इस वीडियो में साफ़ देखा जा रहा है कि एक महिला ज़ू में लोगों को मगरमच्छ के बारे में बता रही है। इसके लिए वह एक तालाब में कई मगरमच्छों के बीच है। कई छोटे-मोटे मगरमच्छ इधर-उधर घूम रहे हैं। जबकि बड़ा वाला मगरमच्छ अपना मुंह खोले आराम फरमा रहा है।


इससे पहले भी महिला ट्रेनर कई बार बड़े वाले मगरमच्छ के साथ रह चुकी हैं। इसलिए दोनों एक दूसरे को अच्छी तरह से जानते और पहचानते हैं। हालांकि, इस बार महिला ट्रेनर की उस समय सांसे अटक गई। जब मगरमच्छ ने थोड़ी सी शरारत कर दी। इस वीडियो में देखा जा रहा है कि जब महिला ट्रेनर लोगों को मगरमच्छ के मुंह और दांत के बारे में बताती है तो वह मगरमच्छ के मुंह के अंदर हाथ ले जाती है।

जबकि मगरमच्छ को शायद यह बात पसंद नहीं आती है और पलक झपकते ही अपने मुंह को बंद कर लेता है। यह माजरा महज एक सेकंड का होता है। तब तक महिला ट्रेनर अपना हाथ बाहर कर लेती है। अगर एक सेकेंड और देरी होती तो महिला ट्रेनर को गंभीर चोट लग सकती थी। उस समय यह दृश्य देखकर सभी लोग दंग रह जाते हैं। कुछ की आवाजें थम सी जाती है तो कुछ लोग ओह  नो ! कह उठते हैं।

इस वीडियो को Buitengebieden ने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपने अकाउंट से शेयर किया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा है- नो वे। Buitengebieden के इस वीडियो को अब तक 8 लोग देख चुके हैं। वहीं, सौ से अधिक लोगों ने वीडियो को पसंद किया है। जबकि कुछ लोगों ने कमेंट्स भी किए हैं, जिनमें उन्होंने आश्चर्य प्रकट किया है। 


भारत की जीत के बाद गावस्कर ने खास अंदाज में मनाया था जश्न, कहा...       अजिंक्य रहाणे की सफलता से विराट कोहली पर बढ़ा दबाव, दिग्गज बोले...       पाकिस्तान के खिलाड़ियों को बड़ी टीमों के खिलाफ कैसे खेलना है, बाबर आजम ने बताया       इन दिग्गजों का नाम है शामिल, Ind vs Eng टेस्ट सीरीज के लिए कमेंट्री टीम का ऐलान!       इंग्लैंड के खिलाफ स्टेडियम में दिख सकते हैं दर्शक, लेकिन...       पाकिस्तान ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ कराची टेस्ट के लिए टीम की घोषणा की, इतने अकैप्ड खिलाड़ियों को मिला मौका       शार्दुल ठाकुर को ब्रिसबेन टेस्ट के बाद मिला नया 'निकनेम', सचिन तेंदुलकर का नाम भी साथ जोड़ा गया       अपने पिछले उच्च स्तर से 8,000 रुपये टूट चुका है सोना, चांदी भी 12,500 रुपये टूटी       इस महीने भी विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक बने हुए हैं शुद्ध खरीदार, अब तक कर चुके हैं 18,456 करोड़ रुपये का निवेश       Budget 2021: भारतीय कंपनियों ने Deloitte सर्वे में बताई बजट को लेकर अपनी उम्मीदें       कौन हैं नताशा दलाल को महेंदी लगाने वाली आर्टिस्ट वीना नगाड़ा, ईशा अंबानी और दीपिका को भी कर चुकी हैं तैयार       रिचा चड्ढा ने कहा कि जब तक लोकतंत्र है लोगों को मुखर होना चाहिए       Bigg Boss 14 : सोनाली फोगाट को खाने को लेकर निक्की, अर्शी और रुबीना से पड़ी जमकर डांट       KBC 12 Crorepati List: केबीसी के इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा, जब सिर्फ महिलाएं बनीं करोड़पति       KBC 12 : इस सवाल का सही उत्तर देकर सूबेदार मेजर योगेन्दर यादव और सूबेदार संजय सिंह ने जीते 25 लाख रुपये       रुबीना दिलैक और राहुल वैद्य आए पत्रकारों के निशाने पर, जमकर पूछे गए सवाल       Rakhi Sawant ने अपनी शादी को लेकर किया खुलासा, कहा...       Bigg Boss 14: शो में सिद्धार्थ शुक्ला ने ली धमाकेदार एंट्री, घर में घुसते ही राहुल वैद्य की लगाई जमकर क्लास       पवित्र रिश्ता के अभिनेता करणवीर मेहरा ने पारंपरिक अंदाज में दिल्ली में गुरुद्वारा में की शादी       Special OPS Season 2 से पहले ज़बरदस्त ट्विस्ट, 'Season 1.5' में दिखेगी केके मेनन के किरदार हिम्मत सिंह की कहानी