जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के इतने स्टूडेंट्स को पूछताछ के लिए बुलाया

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के इतने स्टूडेंट्स को पूछताछ के लिए बुलाया

जामिया हिंसा मुद्दे में दिल्ली पुलिस अपराध ब्रांच की एसआईटी गुरुवार को जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के 10 स्टूडेंट्स को पूछताछ के लिए बुलाया था. इनमें से केवल 5 विद्यार्थी ही चाणक्यपुरी स्थित एसआईटी कार्यालय पहुंचे. बाकी पांच को फिर से नोटिस देकर

पूछताछ के लिए बुलाया गया है. आज एक बार फिर एसआईटी जामिया के विद्यार्थियों से पूछताछ करेगी. हालांकि अपराध ब्रांच के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने जल्द ही कुछ बड़ा खुलासा होने के इशारा दिए हैं.

फिलहाल एसआईटी ने विद्यार्थियों से पूछा है कि जामिया हिंसा के दिन वे कहां-कहां पर थे? जब उनकी फुटेज कैमरों में कैद हुई तो उस वक्त उनका वहां होने का मकसद क्या था? क्या पत्थरबाजी में शामिल थे? इस तरह के 50 से अधिक सवालों के उनसे जवाब मांगे गए. एसआईटी का बोलना है कि वैसे इन विद्यार्थियों में से किसी को अरैस्ट नहीं किया गया है. लेकिन इन्हें अभी व पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा.

दूसरे विद्यार्थियों को नोटिस देकर शुक्रवार को पूछताछ के लिए बुलाया गया है. एसआईटी से जुड़े एक ऑफिसर ने बताया कि 100 से अधिक विद्यार्थियों से पूछताछ हो सकती है. जिस-जिस के भी चेहरे कैमरों में कैद हुए हैं. उन सभी से नोटिस देकर पूछताछ की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिए अपराध ब्रांच की टीम ने उस वक्त साउथ-ईस्ट जिले के डीसीपी रहे चिन्मय बिस्वाल समेत कई अन्य अफसरों को भी इस मसले पर वार्ता के लिए बुलाया है. एसआईटी अडिशनल डीसीपी कुमार ज्ञानेश, जामिया नगर के एसएचओ समेत न्यू फ्रेंडस कॉलोनी, ओखला व शाहीन बाग के एसएचओ से भी 15 दिसंबर के बारे में डिटेल से जानकारी हासिल करेगी.

शरजिल को असम पुलिस ट्रांजिट पर ले गई

बता दें कि अपराध ब्रांच के अधिकारियों का बोलना है कि मुद्दे में अरैस्ट जामिया के स्टूडेंट शरजील इमाम से उनकी पूछताछ लगभग पूरी हो चुकी है. उसे असम पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर ले गई है. उसके विरूद्ध दिल्ली के अलावा, असम, अरुणाचल प्रदेश, अलीगढ़ व पुणे में भी एफआईआर दर्ज हैं. ऐसे में दिल्ली व असम के अतिरिक्त आने वाले दिनों में व राज्यों की पुलिस भी उसे बारी-बारी से रिमांड पर लेंगी.