संत देव मुरारी बापू ने दी आत्महत्या की धमकी, पुलिस ने महिला से छेड़छाड़ और वसूली के आरोप में किया अरेस्ट

संत देव मुरारी बापू ने दी आत्महत्या की धमकी, पुलिस ने महिला से छेड़छाड़ और वसूली के आरोप में किया अरेस्ट

एक महिला ने संत देव मुरारी बापू के खिलाफ जान से मारने की धमकी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। मंगलवार को महिला ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि, तीन अक्टूबर को संत ने उन्हें गालियां दी है और धक्का भी दिया है। वहीं महिला के इस शिकायत के बाद संत ने दो बजे सुसाइड करने की धमकी दी जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पीड़िता ने अपनी शिकायत में यह भी कहा कि, किशोरपुरा निवासी सौरभ गौतम और गौरव गौतम ने उसके 35 लाख भी जब्त कर रखे हैं जिसको लेकर कोर्ट में पहले से ही केस चल रहा है। महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि, कुछ दिन पहले ही संत देव मुरारी बापू, सौरभ, गौरव और दो अन्य लोग महिला के घर पहुंचकर गाली गलौज की थी और कोर्ट में चल रहे केस को वापस लेने का धमकी दी थी। महिला को साथ ही जान से मारने की धमकी दी थी और 10 लाख की मांग भी की थी।

महिला के पीछे लगाई कार

पीड़िता ने बताया कि, तीन दिन पहले ही महिला के पीछे कार लगा दी थी जिसमें कई लोग सवार थे। महिला को जान से मारने की धमकी भी दी थी। इस मामले में संत देव मुरारी बापू, गौरव, सौरभ और दो अन्य के खिलाफ कोतवाली में नामजद मुकदमा दर्ज कराया गया है। कोतवाली प्रभारी अजय कौशल ने बताया कि, महिला की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर दी गई है और जांच शुरू हो गई है। 

देव मुरारी का बयान

महिला की शिकायत के बाद देव मुरारी ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें वह कहते हुए दिख रहे है कि, उनका महिला के साथ कोई विवाद नहीं हुआ है और न ही महिला से कोई पैसे की लेन-देन की गई है। देव मुरारी ने कहा कि,वह हिंदुत्व को लेकर काम कर रहे हैं और इस कारण कुछ लोग उन्हें रोकना चाहते हैं। इसके अलावा पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए और कहा कि, पुलिस छह दिसंबर को श्रीकृष्ण जन्म भूमि स्थान की शाही ईदगाह के लिए पदयात्रा को कमजोर करना चाहती है और मेरे खिलाफ बहुत बड़ा षड्यंत्र रचा जा रहा है।


इतने साल की बच्ची के साथ हुआ दुष्कर्म , गार्ड हुआ गिरफ्तार

इतने  साल की बच्ची के साथ हुआ  दुष्कर्म , गार्ड  हुआ गिरफ्तार

विस्तार केंद्रशासित प्रदेश दादर और नगर हवेली, दमन और दीव के दमन जिले में एक सरकारी अस्पताल में 11 साल की लड़की से दुष्कर्म करने के आरोप में एक सुरक्षा गार्ड को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। दमन थाने के एक अधिकारी ने बताया कि बच्ची अपनी मां के साथ थी, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा था। यह घटना 11 जनवरी को मारवाड़ सरकारी अस्पताल में हुई थी। आरोपी ने कथित तौर पर लड़की को पानी देने के बहाने सुनसान कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

अधिकारी ने कहा कि अपराध के बारे में जानने के बाद एक पुलिस टीम अस्पताल पहुंची। सुरक्षा गार्ड फरार था, इसलिए हमने कई दलों का गठन किया और उसे बस अड्डे से तब पकड़ लिया जब वह कल रात जिले से भागने की कोशिश कर रहा था। उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान प्रशांत कुमार के रूप में हुई है जो बिहार का रहनेवाला है।

अधिकारी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 376 (ए) (बी) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि स्थानीय अदालत ने आरोपी को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। आगे की जांच जारी है।