शादी को ऐतिहासिक बताते हुए दूल्हा- दुल्हन ने ऐसे किया कोरोना गाइडलाइन का पालन

शादी को ऐतिहासिक बताते हुए दूल्हा- दुल्हन ने ऐसे किया कोरोना गाइडलाइन का पालन

बिहार के बेगूसराय में बीती रात संपन्न हुई एक शादी लोगों की जुबान पर चढ़ गई। यह कोरोनाकाल की ऐसी अनोखी शादी है जिसमें कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया गया। दूल्हा और दुल्हन ने एक दूसरे के बीच इतनी सोशल डिस्टेंसिंग बनाई कि एक दूसरे को वरमाला भी डंडे के सहारे पहनाई है। शादी में शामिल हुए  लोग दूल्हा-दुल्हन की प्रशंसा कर रहे हैं।

बेगूसराय में एक अनोखी शादी उस वक्त चर्चा में आ गयी जब शादी के पूर्व दूल्हा- दुल्हन ने एक दूसरे को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए डंडे के सहारे से माला पहनाकर वरमाला की रस्म अदायगी की। शादी में सरकारी गाइडलाइन का पालन करते हुए 50 लोगों की उपस्थिति में शादी समारोह की शुरूआत की गई। इस दौरान दूल्हा और दुल्हन एक दूसरे को मास्क लगाया।

दूल्हे ने बताया कि यह शादी उनके लिए यादगार रहेगी। खासकर डंडे की मदद से जयमाला करना उन्हें हमेशा याद रहेगा। स्थानीय लोगों ने भी इस शादी को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए यह शादी की गई है। समाज को कोरोना गाइडलाइन पालन करने को प्रेरित भी करती है।


यहां मृत्यु होने पर डांस के लिए बुलाई जाती है स्पेशल आइटम गर्ल्स, करती है पोल डांस

यहां मृत्यु होने पर डांस के लिए बुलाई जाती है स्पेशल आइटम गर्ल्स, करती है पोल डांस

अक्सर आपने देखा होगा इंसान के मरने पर मातम का माहौल होता है सब गम में डूबे होते है लेकिन जिसका जन्म हुआ है उसका मरना भी निश्चित है। आज हम आपको ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर शोक सभा में कॉल गर्ल्स को बुलाया जाता है। मातम की खुशियां मनाई जाती है। 

बुलाई जाती है स्पेशल आइटम गर्ल्स

चीन में लोग मरने पर कॉल गर्ल्स को बुलाते हैं जो शोक सभा में कॉफिन के आस-पास घूमकर डांस करती है। चीन के लोगों का मानना है कि यहां अगर कॉल गर्ल्स को बुलाया जाता है तो लोगों की संख्या अधिक होती है। इससे ऐसा माना जाता है जितनी ज्यादा भीड़ होती है मृतक की आत्मा को शांति मिलती हैं।


ऐसे मिलती है आत्मा को शांति:

भीड़ तो इकट्ठा हो जाती है ले​किन बुर्जुग और बच्चे मौजूद नहीं होते हैं। ऐसा इसलिए वह एडल्ट कंटेंट होता है। इतना ही नहीं कॉल गर्ल्स जीप के ऊपर खड़ें होकर परफॉर्म करती है। चारों और खुशियां मनाई जाती है।