दिल्ली में हुए दंगे के मुख्य आरोपी ताहिर हुसैन समेत 15 लोगों के विरूद्ध दर्ज हुई चार्जशीट

दिल्ली में हुए दंगे के मुख्य आरोपी ताहिर हुसैन समेत 15 लोगों के विरूद्ध दर्ज हुई चार्जशीट

 उत्तर पूर्वी दिल्ली ( North East Delhi ) में बड़े पैमाने पर हुए दंगे के मुख्य आरोपी ताहिर हुसैन ( Tahir hussain ) व उसके भाई शाह आलम समेत 15 लोगों के विरूद्ध कड़कडड़ूमा न्यायालय ( Kadkadduma court ) में चार्जशीट दाखिल कर दी गई.

दंगो की जाँच के लिए लिए बनी दिल्ली पुलिस ( Delhi Police ) की अपराध ब्रांच की SIT ने 1 हज़ार से ज़्यादा पन्नों की चार्जशीट न्यायालय में दाखिल कर दी. कड़कडड़ूमा न्यायालय में अपराध ब्रांच ने मुद्दे में 75 गवाहों की भी जानकारी दी. अपराध ब्रांच की चार्जशीट में ताहिर हुसैन को ही दिल्ली में भड़के ( Delhi Violence ) दंगे का मास्टरमाइंड बताया गया है. पुलिस ने चार्जशीट में ताहिर के घर का प्रयोग दंगाइयों को शरण देने व दंगों में प्रयोग हथियार व आगजऩी के सामान रखने को लेकर भी ज़िक्र किया है.


चार्जशीट में दंगा फैलाने के लिए ताहिर के भाई शाह आलम को भी आरोपी बनाया गया है. अपराध ब्रांच के मुताबिक़ पूर्वी दिल्ली में हिंसा के समय ताहिर हुसैन अपने चांद बाग वाले घर पर उपस्थित था. एसआइटी की जाँच में यह भी बात सामने आयी है की दंगो से पहले ताहिर हुसैन ने सीएए व एनआरसी के प्रदर्शनकारियों के साथ गुप्त तरीक़े मीटिंग कर हिंसा की योजना बनाई थी.


चार्जशीट में जो सबूत पेश किए गए हैं उसके मुताबिक़ ताहिर ने दिल्ली दंगों को लेकर हिंसा भड़काने की साज़िश पहले ही कर ली थी. अपराध ब्रांच ने चार्जशीट में बात का जिक्र किया है जो बेहद जरूरी है. चार्जशीट के मुताबिक़ ताहिर के घर मैं कई स्थान से सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे लेकिन हैरानी की बात ये है की जब पुलिस ने कैमरे का रिकॉर्ड खंगाला तो उसमें दंगे से 15 दिन पहले से ही रिकॉर्डिंग बंद कर दी गई थी. जो रिकॉर्डिंग थी उसका भी डेटा मिटा दिया गया.


इसके अतिरिक्त अपराध ब्रांच ने ताहिर हुसैन व उसके भाई द्वारा हथियारों की खऱीद फरोख्त को लेकर भी जिक्र किया गया है. ताहिर के भाई शाह आलम ने हथियार के एक व्यापारी से ही असलहा व कारतूस खऱीदे थे. लेकिन बड़े पैमाने पर खऱीदे गए कारतूस मै से सिर्फ़ 24 जिंदा कारतूस मिले हैं. बाक़ी का हिसाब न ताहिर दे पाया न उसका भाई बता पा रहा है. इसके अतिरिक्त ताहिर के घर से मिले पेट्रोल बम व पत्थर को लेकर भी तमाम अहम बातें चार्जशीट में लिखी गई हैं.