Corona के आंकड़ों से बड़ी चालाकी से खेल रहा उत्तराखंड,कैसे किया गया है आंकड़ों का हेरफेर

Corona के आंकड़ों से बड़ी चालाकी से खेल रहा उत्तराखंड,कैसे किया गया है आंकड़ों का हेरफेर

 उत्तराखंड में सीएम पुष्कर सिंह धामी सरकारी कामकाज में ट्रांसपेरेंसी लाने के लिए विभागीय वेबसाइट्स को लगातार अपडेट रखने के निर्देश दे रहे हैं, लेकिन उत्तराखंड के स्वास्थ्य महकमे पर मुख्यमंत्री के इस कठोर रुख का कोई असर नहीं है हालात ऐसे हैं कि कोविड-19 वायरस से जुड़ी संवेदनशील जानकारी भी हेल्थ डिपार्टमेंट की वेबसाइट में समय से अपडेट नहीं हो रही ये हाल तब हैं, जब राज्य में कोविड-19 के मुद्दे लगातार बढ़ रहे हैं यहां तक कि विभाग की वेबसाइट में हेल्थ एडवाइरी तक अपलोड नहीं है यही नहीं विभाग की वेबसाइट 3 अगस्त की सुबह सात बजे से अपडेट तक नहीं की गई

उत्तराखंड हेल्थ डिपार्टमेंट की ऑफिशियल वेबसाइट https://health.uk.gov.in/ में तो उत्तराखंड में कोविड-19 से हुई मौतों का आंकड़ा भी अपडेट नहीं है राज्य में कोरोना से साढ़े सात हजार से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है जबकि विभाग की वेबसाइट में ये आंकड़ा 297 दिखाया जा रहा है वेबसाइट में ये बात साफसाफ नहीं लिखी गई है कि मृत्यु के ये आंकड़े कब से कब तक हैं साथ ही, 3 अगस्त को जारी हेल्थ बुलेटिन के बाद कोई भी हेल्थ बुलेटिन अपडेट नहीं है

3 अगस्त की रिपोर्ट को ही यदि मान लिय जाए तो इसमें साफ-साफ लिखा हुआ है कि ये हेल्थ बुलेटिन 15 मार्च 2020 के बाद 904 वां बुलेटिन है ऐसे में साफ है कि इस हेल्थ बुलेटिन में 15 मार्च 2020 से कोविड-19 केसों से जुड़े मोटे-मोटे सभी आंकड़े होंगे, जिसमें कोविड-19 के कुल मामलों से लेकर ठीक हो चुके रोगियों की संख्या, सक्रिय केसों की संख्या और कुल मौतों की संख्या तक शामिल होगी, लेकिन हेल्थ बुलेटिन में बड़ी चालाकी से अधिक मौतों के आंकड़ों को छिपाया गया है

कैसे किया गया है आंकड़ों का हेरफेर?

हेल्थ एक्टिविस्ट अनूप नौटियाल के अनुसार विभाग की वेबसाइट में जो आंकड़ा है, वह जनवरी 2022 से अब तक का दिखाया जा रहा है, मौतों का आकड़ा 297 के करीब दिख रहा है साथ ही कोविड-19 के कुल केसों की संख्या भी कम दिखाई दे रही है ऐसे में साफ है कि जब अधिक मौतें हुई, उस समय के पुराने आंकड़ों को स्वास्थ्य ऑफिसरों ने बेबसाइट में बड़ी चालाकी से छिपा दिया स्वास्थ्य महानिदेशालय में असिस्टेंट डायरेक्टर डॉण् पंकज सिंह के अनुसार बेवसाइट पर दिख रहा आंकड़ा जनवरी 2022 के बाद का है उन्होंने बोला कि वेबसाइट यदि अपडेट नहीं है, तो इसे अपडेट किया जाएगा