यूपी: मुलायम सिंह यादव से मिले राजा भैया, बोले- नेताजी को जन्मदिन की बधाई देने आए थे

यूपी: मुलायम सिंह यादव से मिले राजा भैया, बोले- नेताजी को जन्मदिन की बधाई देने आए थे

यूपी सरकार में मंत्री रहे रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने गुरुवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से उनके लखनऊ स्थित आवास पर मुलाकात की।

मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि वह जन्मदिन की बधाई देने आए थे। नेताजी हमारे पूज्य हैं। सपा से गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि भाजपा को रोकने के लिए कुछ भी करेंगे लेकिन अभी सपा से गठबंधन पर बात नहीं हुई है। जब समय आएगा तब गठबंधन पर भी बात होगी पर आज की मुलाकात का कोई राजनीतिक निहितार्थ नहीं है।

राजा भैया करीब 15 मिनट तक मुलायम सिंह यादव के पास बैठे। उन्होंने कहा कि मैं सपा संरक्षक के उत्तम स्वास्थ्य और लंबी आयु की कामना करता हूं। मैं 22 नवंबर को लखनऊ से बाहर था इसलिए तब मुलाकात नहीं हो सकी थी।


सीएम योगी की सरकारी कर्मचारियों और वकीलों को बड़ी सौगात, सब्सिडी पर मिलेंगे घर, रहेगी ये शर्त

सीएम योगी की सरकारी कर्मचारियों और वकीलों को बड़ी सौगात, सब्सिडी पर मिलेंगे घर, रहेगी ये शर्त

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार ने प्रदेश के ग्रुप सी और डी के लाखों कर्मियों और अधिवक्ताओं के हित में बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश सरकार इन कर्मचारियों को सब्सिडी पर मकान उपलब्ध कराने जा रही है. इन मकानों को लेने वालों को भूमि का मूल्य महज एक रुपए अदा करना होगा.

दरअसल, छूट पर मकान लेने वालों को लिए शर्त रखी जाएगी कि वे इस भूमि की 10 साल तक बिक्री नहीं कर पाएंगे. इस योजना का प्रारूप तैयार कर लिया गया है. उच्चाधिकारियों से मंजूरी मिलने के बाद इस प्रस्ताव को कैबिनेट से पास कराया जाएगा. कैबिनेट से प्रस्ताव पास होने के बाद कर्मचारियों को योजना का लाभ मिल सकेगा.

मकान के लिए कर्मचारियों को नहीं होगी परेशानी

यूपी में अभी तक ग्रुप सी और डी के साथ ही अधिवक्ताओं को छूट पर मकान देने की व्यवस्था नहीं है. ग्रुप सी और डी के कर्मी और ऐसे अधिवक्ता जिनकी अधिक आय नहीं है, उन्हें मकान लेने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसीलिए इनको छूट पर मकान देने पर विचार-विमर्श के बाद प्रारूप तैयार किया गया है.

अधिवक्ताओं के लिए प्रयागराज में भूमि

हालांकि, अभी तक मकान देने की प्रक्रिया को सार्वजनिक नहीं किया गया है, जल्द ही इस संबंध में सूचना उपलब्ध करा दी जाएगी. पात्रों को मकान देने के लिए संबंधित विभाग ही नोडल होगा. अधिवक्ताओं के लिए प्रयागराज शहर में भूमि चिह्नित की जाएगी, ये जगह कहां चिंन्हित की जाएगी इसका अभी तक निर्धारण नहीं किया गया है.