विकास दुबे के छोटे भाई पर पुलिस कस रही हैं अपना शिकंजा, पढ़े

विकास दुबे के छोटे भाई पर पुलिस कस रही हैं अपना शिकंजा, पढ़े

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर में ढेर होने के बाद कृष्णानगर पुलिस ने फरार चल रहे उसके छोटे भाई दीप प्रकाश उर्फ दीपक पर शिकंजा कसना प्रारम्भ कर दिया.

 इसी कड़ी में पुलिस ने उसकी पत्नी अंजलि से पता चले बैंक खातों का ब्योरा खंगाला. दो बैंक खातों का ब्योरा कानपुर से मंगवाया गया. लखनऊ में भी दीप के परिवार का एक बैंक खाता मिला है. वहीं दीप के अभी तक न मिलने पर पुलिस ने उसका गैर जमानती वारंट लेने की कवायद भी तेज कर दी है.
 
बिकरू कांड के दूसरे दिन पुलिस ने विकास के कृष्णानगर स्थित इन्द्रलोक कालोनी में बने मकान व यहीं से कुछ दूरी पर स्थित दीप प्रकाश के मकान में दबिश दी थी. विकास के घर में ताला मिला था. पत्नी ऋचा और बेटा घर से गायब थे. वहीं दीप के घर पर उसकी पत्नी अजंलि, बेटा व मां सरला देवी मिली थी. अंजलि ने बताया था कि दो जुलाई की रात ही दीप यज्ञ करने के लिए कहीं गए हैं. तब से दीप का कुछ पता नहीं चला है. दीप के घर पर सचिवालय से नीलाम हुई एक एम्बेस्डर कार भी मिली थी. पड़ताल में पता चला कि यह कार विनीत पाण्डेय ने नीलामी में ली थी. विनीत ने पुलिस को बताया था कि विकास और दीप उसे कार देने के लिये धमकाते थे. इस पर ही उसने कार दे दी थी. इसमें अब एफआईआर दर्ज कर दीप की तलाश भी तेज कर दी गई थी. 
दो टीमों ने दबिश दी
एसीपी कृष्णानगर दीपक सिंह ने बताया कि दीप प्रकाश की तलाश में दो व टीमें लगा दी गई है. दीप के करीबियों के मोबाइल नम्बर मिले हैं जिनकी कॉल डिटेल निकलवायी जा रही है. दीप के न मिलने पर न्यायालय से उसके विरूद्ध गैर जमानती वारन्ट लिया जायेगा.