CM योगी के अब्बाजान के बयान पर ओवैसी का तंज

CM योगी के अब्बाजान के बयान पर ओवैसी का तंज

उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी के सौ से अधिक प्रत्याशी उतारने की तैयारी में लगे हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बाजान के बयान पर तंज कसा है। ओवैसी ने रविवार के सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर कहा कि इन्होंने तो उत्तर प्रदेश में कुछ भी काम नहीं किया है। अगर कुछ काम करते तो फिर इनको आज इनको प्रदेश में अब्बाजान-अब्बाजान ना चिल्लाना पड़ता।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के कुशीनगर में बयान पर तंज कसा है। असदुद्दीन ओवैसी ने योगी आदित्यनाथ सरकार के कामकाज पर सवाल उठाया है। ओवैसी से योगी आदित्यनाथ से कहा कि अगर काम किए होते तो अब्बा, अब्बा चिल्लाना नहीं पड़ता। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की आहट से ही अब तुष्टिकरण की राजनीति शुरू हो गई है। कुशीनगर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बा जान वाले बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारने की तैयारी में लगे ओवैसी ने एक के बाद एक तीन ट्वीट करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा और कहा कि अगर काम किए होते तो अब्बा, अब्बा चिल्लाना नहीं पड़ता।

असदुद्दीन ओवैसी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर अपने ट्वीट में कहा कि कैसा तुष्टिकरण। प्रदेश के मुसलमानों की साक्षरता-दर सबसे कम है, मुस्लिम बच्चों का ड्रॉपआउड सबसे ज़्यादा है। मुस्लिम इलाकों में स्कूल-कॉलेज नहीं खोले जाते। अल्पसंख्यकों के विकास के लिए केन्द्र सरकार से बाबा की सरकार को 16,207 लाख मिले थे, बाबा ने सिर्फ 1602 लाख रुपये खर्च किया। 2017-18 में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत मात्र दस मुसलमानों को घर मिले। अब अब्बा के बहाने किसके वोटों का पुष्टिकरण हो रहा है बाबा। देश के 9 लाख बच्चे गंभीर तौर पर कुपोषित हैं, जिसमें से 4 लाख बच्चे सिर्फ उत्तर प्रदेश से हैं।

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कुशीनगर में कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधा था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि पीएम मोदी के नेतृत्व में तुष्टिकरण की राजनीति के लिए कोई जगह नहीं है। क्या 2017 से पहले सभी को राशन मिलता था। अब्बा जान कहने वाले ही राशन हजम कर जाते थे। 


गोरखपुर में बोले CM योगी, कोरोना काल में दुनिया ने देखा सरकार का मानवीय चेहरा

गोरखपुर में बोले CM योगी, कोरोना काल में दुनिया ने देखा सरकार का मानवीय चेहरा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने 1 950 के दशक में समाज के अंतिम व्यक्ति के विकास का जो सपना देखा था, सात दशक बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उसे पूरा कर रहे हैं। बीते सात वर्ष से उन्होंने गरीबों के उत्थान के लिए निरंतर प्रयास किया है जबकि पिछली सरकारों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। मुख्यमंत्री शनिवार को पं. दीनदयाल की जयंती पर दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन परिसर में पं. दीनदयाल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि करने के बाद मौजूद शिक्षकों और कर्मचारियों को संबोधित कर रहे थे।

गोविवि के प्रशासनिक भवन में मुख्यमंत्री ने पं. दीनदयाल की प्रतिमा पर की पुष्पांजलि

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की अगुवाई में गरीबों के कल्याण के लिए बीते सात वर्ष में जो भी योजनाएं लागू हुई हैं, अंत:करण से उसकी प्रेरणा पं. दीनदयाल के अंत्योदय और एकात्म मानववाद से मिली। पं. दीनदयाल का स्पष्ट मत था कि हमारी योजनाओं का आधार समाज का संपन्न नहीं बल्कि अंतिम व्यक्ति होना चाहिए। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आज हर गरीब को आवास, शौचालय, एलपीजी गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जा रहा है। आयुष्मान योजना के तहत पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य सुरक्षा कवच दिया जा रहा है। इन योजनाओं का लाभ किसी का चेहरा, जाति, मजहब, क्षेत्र देखकर नहीं दिया जा रहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल के दौरान कई ऐसे कार्यक्रम शुरू हुए, जिससे लोककल्याणकारी सरकार का मानवीय चेहरा दुनिया के सामने आया। इसे पूरी दुनिया ने देखा।


दो साल में 15 महीने गरीबों को मुफ्त राशन दिया

आमतौर पर महामारी के समय बीमारी से तो मौतें हाेती ही हैं, भूख भी इसकी वजह बनती है पर सरकार ने ऐसा नहीं होने दिया। पिछले दो साल में 15 महीने गरीबों को मुफ्त राशन दिया गया। देश में 80 और प्रदेश में 15 करोड़ लोग इससे लाभान्वित हुए। निश्चित रूप से यह कल्याणकारी योजनाएं एक भारत श्रेष्ठ भारत की संकल्पना को आगे बढ़ाने की माध्यम बनेंगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि पं. दीनदयाल की जयंती पर हर ब्लाक मेंं गरीब कल्याण मेला आयोजित किया जा रहा है। हर नागरिक काे सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिले, यह मेला इसे सुनिश्चित करेगा। इस दौरान कुलपति प्रो. राजेश सिंह, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. अजय सिंह, अधिष्ठाता विज्ञान संकाय प्रो. शांतनु रस्तोगी, प्रो. नंदिता सिंह, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डा. धर्मेंद्र सिंह, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राहुल श्रीवास्तव, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता, डा. सत्येंद्र सिन्हा आदि मौजूद रहे।