अब राजधानी की पुलिस ड्रोन कैमरों की मदद से वाहनों के चालान करने की तैयारी में...

अब राजधानी की पुलिस ड्रोन कैमरों की मदद से वाहनों के चालान करने की तैयारी में...

राजधानी की यातायात व्यवस्था व चुस्त-दुरुस्त व हाईटेक होगी. चौराहे-तिराहों पर सिग्नल के जरिए ट्रैफिक संचालित हो रहा है, अब राजधानी की पुलिस ड्रोन कैमरों की मदद से वाहनों के चालान करने की तैयारी में है.

गुजरात की एक कंपनी ने पुलिस आयुक्त को कुछ दिन पहले यह प्रोजेक्ट दिखाया था. आयुक्त ने इसे स्वीकृति के लिए शासन को भेजा है.

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक ट्रैफिक कंट्रोल हमारी अहमियत में है. तकनीक के माध्यम से इसे व बेहतर करने का कोशिश है. शासन को प्रस्ताव भेजा गया है. अनुमति मिलने के बाद यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों का ड्रोन कैमरों की मदद से चालान किया जाएगा. ऊपर से ही ट्रैफिक की निगरानी राजधानी के बेहद व्यस्त बाजारों, चौराहों व सड़कों पर ड्रोन कैमरे निगरानी रखेंगे. इसकी मदद से उन वाहनों का स्वत: चालान होगा, जो नो-पाॄकग में खड़े होंगे.

रेड रोशनी ताडऩे वालों, निर्धारित सीमा से तेज गाड़ी चलाने वालों के भी चालान किए जा सकेंगे. ड्रोन सिस्टम में सभी वाहनों का डाटा भी उपस्थित रहेगा. इससे चालान की कॉपी संबंधित को भेजने में सरलता होगी. नोकझोंक से मिलेगी राहत वाहन चेकिंग के दौरान अक्सर लोग पुलिसकॢमयों से टकराव करने लगते हैं. चालान करने को लेकर नोकझोंक तक हो जाती है. ऐसे में ड्रोन कैमरे का प्रयोग बेवजह के टकराव से मुक्ति दिलाएगा. यही नहीं सड़क पर दौड़कर गाडिय़ों को रोकने व उसके पीछे भागने की आवश्यकता भी नहीं पड़ेगी.