फिर से लखनऊ में दौड़ सकती है मेट्रो, जान ले ये नए नियम

फिर से लखनऊ में दौड़ सकती है मेट्रो, जान ले ये नए नियम

31 मई को लॉकडाउन समाप्त हुआ तो फिर से लखनऊ में मेट्रो दौड़ सकती है. एयरपोर्ट से मुंशीपुलिया के बीच मेट्रो चल सके, इसके लिए सभी 21 स्टेशनों को तैयार कर लिया गया है. वहीं, उत्तर प्रदेश मेट्रो ट्रेनों को नियमित रूप से टेस्टिंग ट्रायल कर सारे सिस्टम को तैयार रखे हैं.

अधिकारियों ने यह भी स्पष्ट किया है कि नए नियमों के साथ ही लोगों को मेट्रो से यात्रा की अनुमति होगी. मेट्रो के प्रबंध निदेशक कुमार केशव का बोलना है कि जहां पूरा स्टाफ स्टेशनों पर मास्क, ग्लव्स पहने होगा तो यात्रियों को भी मास्क पहनकर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए यात्रा करनी होगी.
बताया कि स्मार्ट कार्ड के उपयोग से यात्री को अपनी सीट, एस्कलेटर या ट्रेन के अंदर हैंडल के ही सम्पर्क में आना होगा. इन सभी को चार से पांच घंटे बाद लगातार सैनिटाइज किया जाएगा. यात्रियों को टोकन भी सैनिटाइज करने के बाद ही दुबारा उपयोग में दिया जाएगा. पूरी ट्रेन दिन में दो बार सैनिटाइज होगी. 

फेस-मास्क का उपयोग करें, थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य, स्टेशनों पर सैनिटाइजर व वॉशरूम में हैंडवॉश का उपयोग, सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन, ट्रेन में एक सीट छोड़कर बैठ सकेंगे, एक बार में दो ही लिफ्ट का उपयोग कर सकेंगे, सोशल डिस्टेन्सिंग स्टिकर का पालन करें.  

ऑटो रिक्शा, कैब प्रारम्भ न होने से    मेट्रो स्टेशनों तक पहुंचना सरल नहीं होगा. मेट्रो की प्रवक्ता पुष्पा बेल्लानी का बोलना है कि प्रशासन से वार्ता जारी है. लखनऊ ऑटोरिक्शा और टैक्सी संघ के अध्यक्ष पंकज दीक्षित का बोलना है कि लखनऊ में आगरा व नोएडा से बुरे दशा तो नहीं हैं.  मीटर से चलने की अनुमति दी जा सकती है.