स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह  ने कहा -'आईआईएम के साथ वन ट्रिलियन के लक्ष्य का रोड मैप तैयार'

 स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह  ने कहा -'आईआईएम के साथ वन ट्रिलियन के लक्ष्य का रोड मैप तैयार'

यूपी के सबसे बड़े प्रोग्राम 'राइजिंग उत्तर प्रदेश' (Rising Uttar Pradesh) में स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा- हमने आईआईएम के साथ वन ट्रिलियन के लक्ष्य का रोड मैप तैयार किया है। उन्होंने बोला कि  एक ट्रिलियन इकोनॉमी का रोड मैप पर हमने मंथन किया है। इसमें 6 सेक्टर, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, औद्योगीकरण को लेकर हमने रोडमैप बनाया है।



स्वास्थ्य मंत्री ने आगे बोला कि इसमें कुछ कार्य ऐसे हैं, जिन्हें हम जल्दी कर सकते हैं, उस पर कार्य हो रहा है। वहीं कुछ ऐसे कार्य हैं, जो लंबे समय के हैं, इसे हम समय से पूरा कर सकते हैं। ओडीओपी के तहत हुनर को बढ़ाने व उसमें बड़े उद्योगों को लाने के कोशिश किए जा रहे हैं।

योगी के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने प्रोग्राम में बोला कि योगी जी हमारे कैप्टन हैं व टीम के तौर पर हम प्रदेश के विकास में लगे हैं। कानपुर छावनी विधानसभा क्षेत्र से सात बार विधायक चुन कर आए सतीश महाना ने उद्योगों के लिए बोला कि 'जब तक छोटे व मध्यम उद्योग नहीं होंगे, तब तक बड़े उद्योग नहीं लगेंगे। दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। उत्तर प्रदेश में औद्योगीकरण का माहौल है। पहले उत्तर प्रदेश में कोई उद्योग लगाना नहीं चाहता था, अब हम उस छवि से आगे निकल आए हैं। पहले अपहरण, जातिवाद, बिजली के अभाव का प्रदेश माना जाता था। '

आगे उन्होंने बोला कि हम आज दावे के साथ कह सकते हैं कि कोई भी क्रिमिनल किसी व्यापारी, उद्योगपति को परेशान नहीं कर सकता है। हम तुलना नहीं, कार्य करके बड़े होना चाहते हैं। पिछले 15 वर्ष में उत्तर प्रदेश में जितना इन्वेस्टमेंट आया, उसका दोगुना से ज्यादा इन्वेस्टमेंट वर्तमान भाजपा सरकार में आया है।

पिछली सरकारों पर तंज कसते हुए महाना ने बोला कि जिन्होंने करप्शन किया वो लोग कारागार चले गए लेकिन फ्लैट में इन्वेस्ट करने वाले लोगों को हम सुन रहे हैं। रास्ते निकाल रहे हैं।