गोरखपुर: संक्रमित का उपचार करने वाले दो डॉक्टर, दो नर्स व एक वार्ड ब्वॉय हो गए होम क्वारंटीन

गोरखपुर: संक्रमित का उपचार करने वाले दो डॉक्टर, दो नर्स व एक वार्ड ब्वॉय हो गए होम क्वारंटीन

गोरखपुर जिले के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीज में बुधवार को कोरोना की पुष्टि होने के बाद संक्रमित का उपचार करने वाले दो डॉक्टर, दो नर्स व एक वार्ड ब्वॉय ड्यूटी पर नहीं आए. बताया जा रहा है कि वे होम क्वारंटीन हो गए हैं. इसके अतिरिक्त वार्ड के 10 व लोग भी सहमे  हुए हैं.

14 लोग हुए होम क्वारंटीन
पाली. नेवास गांव में दंपति की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम बुधवार को गांव में पहुंचकर उनके सम्पर्क में आने वाले सम्बन्धी व उनके परिजनों को होम क्वारंटीन की सलाह दी है. इसके अतिरिक्त पति व पत्नी माड़र गांव में भी गए थे.
वहां भी टीम पहुंचकर लोगों को होम क्वारंटीन की सलाह देते हुए एहतियात के बरतने के आदेश दिए है. डाक्टर सीपी मिश्र ने परिजनों को होम क्वारंटीन कराया है. 

बीआरडी में इस समय 81 मरीजों का उपचार चल रहा है. जानकारी के मुताबिक पीपीगंज का नया गांव निवासी 42 वर्षीय आदमी 19 मई को मुंबई से लौटा था. तबीयत बेकार होने पर जिला अस्पताल में 31 मई को भर्ती हुआ. जाँच के लिए नमूना लिया गया था.

सहजनवां के कटसहरा के पास स्थित पिपरा हेमा गांव निवासी 28 वर्षीय युवक 29 मई को मुंबई से आया था. कटसहरा स्वास्थ्य केन्द्र पर 31 मई को उसका सैंपल लिया गया था. दोनों की रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटिव आई है. इसके अतिरिक्त भटहट के मौलाखोर निवासी 59 वर्षीय आदमी 20 दिन पहले मुंबई से लौटा था.

गांव के संपदा देवी इंटर कॉलेज में क्वारंटीन था. इस बीच दो दिन पूर्व नमूना जाँच के लिए भेजा गया था. रिपोर्ट बुधवार को पॉजिटिव आई है. सीएमओ डाक्टर श्रीकांत तिवारी ने बताया कि दोनों के गांव को सील कर सैनिटाइजेशन प्रारम्भ कर दिया गया है. उनके सम्पर्क वालों की पहचान की जा रही है.