गौतमबुद्ध नगर, मेरठ और गाजियाबाद के लिए बनेगी अलग कमेटी : मुख्यमंत्री योगी

गौतमबुद्ध नगर, मेरठ और गाजियाबाद के लिए बनेगी अलग कमेटी : मुख्यमंत्री योगी

जिन जिलों में कोरोना से संक्रमित व संदिग्ध लोग अधिक मिल रहे हैं, वहां के लिए यूपी की योगी सरकार अब व सतर्क हो गई है. गौतमबुद्धनगर की स्थिति देखकर जिलाधिकारी बीएन सिंह पर कार्रवाई करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसी क्रम में अब गौतमबुद्ध नगर, मेरठ व गाजियाबाद के लिए अलग कमेटी बनाकर कार्य करने के आदेश स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं.

कोरोना आपदा की स्थिति से निपटने व लॉकडाउन की व्यवस्थाएं लागू करने के लिए बनाए गए नोडल अधिकारियों के साथ सोमवार को मीटिंग करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने इन अधिकारियों से अंतर्विभागीय समन्वय के साथ पूरी जिम्मेदारी से कार्य करने को कहा. नोडल अधिकारियों से सीएम ने यह सुनिश्चित करने को बोला कि लॉकडाउन की स्थिति से प्रभावित आदमी का फोन अवश्य रिसीव किया जाए. पीड़ित आदमी की समस्या का उचित निवारण होना चाहिए. नोडल अधिकारियों से सीएम ने राज्यवार विस्तृत रिपोर्ट शासन को उपलब्ध कराने का आदेश दिया.

नेपाल में फंसे प्रदेशवासियों की समस्याओं के निवारण के लिए सीएम ने विदेश मंत्रालय के माध्यम से नेपाल के विदेश मंत्रालय से बातचीत करने को कहा. किसी भी हालात में किसी नागरिक को भूखा न रहने देने के लिए सीएम ने हर जिले में कम्युनिटी किचन संचालित करने व जिलाधिकारी द्वारा गठित टीम से इसका निरीक्षण कराने को कहा.

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण और शहरी इलाकों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखे जाने के साथ पुलिस महानिदेशक से यह सुनिश्चित करने को बोला कि सभी पुलिस कर्मियों के पास मास्क, ग्लव्स और सैनिटाइजर हो. मीटिंग में मुख्य सचिव आरके तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टंडन, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव कुमार मित्तल, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी और प्रमुख सचिव सीएम एसपी गोयल भी मौजूद थे.

एंबुलेंस कर्मियों को दें तत्काल वेतन

मुख्यमंत्री ने 108 व 103 एंबुलेंस के कर्मचारियों के वेतन का भुगतान तत्काल करने के आदेश दिए हैैं. वहीं, फैक्ट्रियों के संचालन में यह ध्यान रखने को बोला है कि वहां कोई कोरोना पीडि़त न हो. साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हो. उन्होंने बोला कि सरप्लस दूध का उपयोग दही, घी, मक्खन व मिल्क पाउडर बनाने में किया जाए.