मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुजुर्गों, विधवा व दिव्यांगजनों के लिए भेजी पेंशन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुजुर्गों, विधवा व दिव्यांगजनों के लिए भेजी पेंशन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार की सुबह प्रदेश के 86.85 लाख बुजुर्गों, विधवा, दिव्यांगजनों के खाते में तीन महीने की पेंशन भेज दी। उन्होंने 1311 करोड़ रुपये की धनराशि का ऑनलाइन ट्रांसफर किया। इस मौके पर उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए लाभार्थियों से बात की और कहा कि सरकार हर वक्त उनके साथ खड़ी है। कोई खुद को अकेला न समझे।

मुख्यमंत्री योगी ने लखनऊ स्थित अपने कार्यालय से लाभार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि तकनीक के जरिए सरकारी धन के वितरण में पारदर्शिता व तेजी आती है और इसमें भ्रष्टाचार की गुंजाइश न के बराबर होती है। यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से ही संभव हो सका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में निराश्रित व दिव्यांगजन को यह नहीं सोचना चाहिए कि वो अकेले हैं। हमारी सरकार उनके साथ खड़ी है। हमारे लिए 'नर सेवा नारायण सेवा' है। मुख्यमंत्री ने जनकल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार प्रदेश के गरीबों को महीने में दो बार राशन मुहैया करवा रही है। हमारी कोशिश रही है कि कोरोना काल में किसी को कोई मुश्किल न आए। जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं तत्काल उनके राशन कार्ड बनाने का आदेश दिया गया है। अगर कोई बीमार है और उसके पास आयुष्मान कार्ड या मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का दस्तावेज नहीं है तो उसे ग्राम प्रधान की निधि से एक हजार रुपये की तत्काल सहायता प्रदान करने का आदेश दिया गया है। वहीं, किसी गरीब की मृत्यु होने पर उसके दाह संस्कार के लिए जिलाधिकारी तत्काल पांच हजार रुपये की व्यवस्था करेंगे। यह सहायता नगर निकाय, ग्राम प्रधान या मुख्यमंत्री राहत कोष से की जाएगी।