नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास में सीएम योगी बोले...

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास में सीएम योगी बोले...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को गौतमबुद्धनगर में देश को बड़ा ही नायाब तोहफा दिया। इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत करने के साथ जनता को संबोधित किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना संबोधन शुरू करने से पहले भारत माता के नारे लगवाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं। जेवर की इस धरती पर मैं उनका हृदय से स्वागत करता हूं। मेरा सौभाग्य की शिलान्यास में प्रधानमंत्री का स्वागत कर रहा हूं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के हर नागरिक ने 2014 के बाद भारत के बदलते स्वरूप को देखा है। प्रधानमंत्री मोदी का जेवर में आगमन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए गौरव की बात है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यहां के किसानों ने गन्ने की मिठास बढ़ाने का काम किया था। इसी बीच कुछ लोगों ने गन्ने की मिठास को काफी कड़वा करने का प्रयास किया था। यहां के किसानों ने कभी गन्ने की मिठास बढ़ाने का काम किया था, लेकिन कुछ लोगों ने गन्ने की मिठास को कड़वाहट में बदल दिया था। ये वही लोग थे जो आज जिन्ना के अनुयायी बने हुए हैं, जिन्हें यहां की जनता सबक सिखाने को तैयार है। भारत के नागरिकों ने एक बदलते हुए भारत को देखा है। 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' को बनते देखा है।

प्रधानमंत्री ने देश में कल्याणकारी योजनाएं हर नागरिक तक पहुंचाने का काम किया। उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट के लिए जमीन देने वाले किसानों का अभिनंदन करता हूं। मैं उन 700 किसानों का भी धन्यवाद दूंगा, जिन्होंने बिना किसी दबाव के खुद ही लखनऊ आकर एयरपोर्ट के लिए अपनी जमीन दी थी। यह बदले हुए प्रदेश की तस्वीर है। उन्होंने कहा कि अभी उत्तर प्रदेश में नौ एयरपोर्ट हैं आज 10वां बनने जा रहा है। अब तो प्रदेश में कई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्ष में केवल गौतमबुद्धनगर में ही 1,067 करोड़ से काम हुए हैं। आने वाले समय में फिल्मसिटी, लाजिस्टिक पार्क, सहित तमाम योजनाएं आएंगी। अब तो यहां के गन्ने की मिठास अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरेगी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश को अग्रिम बधाई। जय श्री राम। 


सीएम योगी की सरकारी कर्मचारियों और वकीलों को बड़ी सौगात, सब्सिडी पर मिलेंगे घर, रहेगी ये शर्त

सीएम योगी की सरकारी कर्मचारियों और वकीलों को बड़ी सौगात, सब्सिडी पर मिलेंगे घर, रहेगी ये शर्त

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार ने प्रदेश के ग्रुप सी और डी के लाखों कर्मियों और अधिवक्ताओं के हित में बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश सरकार इन कर्मचारियों को सब्सिडी पर मकान उपलब्ध कराने जा रही है. इन मकानों को लेने वालों को भूमि का मूल्य महज एक रुपए अदा करना होगा.

दरअसल, छूट पर मकान लेने वालों को लिए शर्त रखी जाएगी कि वे इस भूमि की 10 साल तक बिक्री नहीं कर पाएंगे. इस योजना का प्रारूप तैयार कर लिया गया है. उच्चाधिकारियों से मंजूरी मिलने के बाद इस प्रस्ताव को कैबिनेट से पास कराया जाएगा. कैबिनेट से प्रस्ताव पास होने के बाद कर्मचारियों को योजना का लाभ मिल सकेगा.

मकान के लिए कर्मचारियों को नहीं होगी परेशानी

यूपी में अभी तक ग्रुप सी और डी के साथ ही अधिवक्ताओं को छूट पर मकान देने की व्यवस्था नहीं है. ग्रुप सी और डी के कर्मी और ऐसे अधिवक्ता जिनकी अधिक आय नहीं है, उन्हें मकान लेने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसीलिए इनको छूट पर मकान देने पर विचार-विमर्श के बाद प्रारूप तैयार किया गया है.

अधिवक्ताओं के लिए प्रयागराज में भूमि

हालांकि, अभी तक मकान देने की प्रक्रिया को सार्वजनिक नहीं किया गया है, जल्द ही इस संबंध में सूचना उपलब्ध करा दी जाएगी. पात्रों को मकान देने के लिए संबंधित विभाग ही नोडल होगा. अधिवक्ताओं के लिए प्रयागराज शहर में भूमि चिह्नित की जाएगी, ये जगह कहां चिंन्हित की जाएगी इसका अभी तक निर्धारण नहीं किया गया है.