आगरा : एक तरफ बढ़ी कोरोना को मात देने वाले लोगों की संख्या, दूसरी ओर मृतकों का ग्राफ

आगरा : एक तरफ बढ़ी कोरोना को मात देने वाले लोगों की संख्या, दूसरी ओर मृतकों का ग्राफ

आगरा में एक तरफ कोरोना वायरस को मात देने वाले लोगों की संख्या तेजी से बढ़ी है तो दूसरी ओर मृतकों का ग्राफ भी ऊपर की ओर गया है. पिछले 25 दिनों में 23 संक्रमितों की जान चली गई. इससे पहले 22 संक्रमितों की मृत्यु 30 दिन में हुई थी. पिछले 12 दिनों में यह गति व तेज हुई है, इस दौरान 15 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ा है.


कोरोना संक्रमित मरीज की पहली मृत्यु आठ अप्रैल को हुई थी. कमला नगर में कारोबारी की 76 वर्षीय मां ने दम तोड़ा था. उन्हें सांस की बीमारी थी. इसके बाद आठ मई तक मृत्यु का आंकड़ा 23 पर था. यह 22 मई को 30 पर व तीन जून को 45 पर पहुंच गया. मरने वालों में एक वर्ष के बच्चे से लेकर 80 वर्ष के बुजुर्ग तक हैं.
45 मृतकों में से 25 बीपी व मधुमेह के मरीज थे

45 मृतकों में से 25 ब्लड प्रेशर व मधुमेह के मरीज थे. इनकी आयु 60 से 74 साल रही. एसएन मेडिकल कॉलेज में इसकी रिपोर्ट तैयार की गई है. संक्रमित होने वालों में जान सिर्फ उनकी गई है जिन्हें पहले से कोई गंभीर बीमारी थी. 

प्राचार्य डाक्टर संजय काला ने बताया कि एसएन मेडिकल कॉलेज में कोरोना वायरस से संक्रमित 332 मरीज भर्ती हुए, जिसमें से 90 पुरुष, 128 महिलाएं व 14 बच्चे शामिल हैं.

राहत की बात यह है कि ताजनगरी में कोरोना मरीज तेजी से अच्छा भी हो रहे हैं. अब तक 799 अच्छा होकर घर जा चुके हैं. सिर्फ 73 का इलाज चल रहा है. अच्छा होने की दर 87.26 प्रतिशत से ज्यादा हो गई है.

एसएन मेडिकल कॉलेज की डायटीशियन मिनी शर्मा बताती हैं कि 2200 से 2500 कैलोरी का भोजन खाएं. दाल, चपाती, चावल, सलाद, हरी सब्जी को भोजन में शामिल करें. दूध, फल, हर्बल चाय व गुनगुना-सामान्य पानी पीने की आदत डालें. नियमित योग या व्यायाम जरूर करें. इससे शरीर फिट रहेगा व रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी.

गाइड लाइन का पालन करें: डाक्टर आरके सिंह

स्वास्थ्य विभाग के डाक्टर आरके सिंह कोरोना संक्रमण से अच्छा होने के बाद प्लाज्मा दान कर चुके हैं. उन्होंने बोला कि कोरोना वायरस से घबराने की बजाय मास्क-एक मीटर की दूरी का गंभीरता से पालन करें.

संक्रमण से अच्छा हुए लोग प्लाज्मा का दान करें: चंदन मलिक

एसएन के पैथोलॉजी विभाग के चंदन मलिक ने कोरोना वायरस को मात दी है. उन्होंने संक्रमण से अच्छा हो चुके लोगों से अपील की है कि वह मरीजों के उपचार के लिए प्लाज्मा दान करें, उन्होंने खुद भी जनहित में ऐसा किया है.