टेस्ट सीरीज में किसे मिले विराट कोहली की जगह?

टेस्ट सीरीज में किसे मिले विराट कोहली की जगह?

नई दिल्ली हिंदुस्तान और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच वैसे तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जा रही है हिंदुस्तान ने पहले दोनों टी20 मैच जीतकर ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज की हार का बदला ले लिया है हिंदुस्तान ने पहला टी20 मैच 11 रन और दूसरी टी20 मैच 6 विकेट से जीता तीसरा टी20 मैच मंगलवार 8 दिसंबर को खेला जाएगा टी20 सीरीज के बाद हिंदुस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों (बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी) खेली जाएगी इस टेस्ट सीरीज का आगाज 17 दिसंबर से होगा भारतीय कैप्टन विराट कोहली (Virat Kohli) एडिलेड में पहला टेस्ट मैच खेलने के बाद हिंदुस्तान लौट जाएंगे ऐसे में बचे हुए तीन टेस्ट मैचों में विराट कोहली की स्थान किसको मिलेगी? विराट की स्थान किसे दी जाए, इसे लेकर कद्दावर भिन्न-भिन्न राय दे रहे हैं

पूर्व भारतीय ओपनर और वर्तमान कमेंटेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने बताया है कि बचे हुए तीन टेस्ट मैचों में विराट कोहली की स्थान कौन सा खिलाड़ी ले सकता है दरअसल, जनवरी 2021 में विराट कोहली की पत्नी और बॉलीवुड अदाकारा अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) के पहले बच्चे का जन्म होगा ऐसे में भारतीय कैप्टन ने पैटरनिटी लीव ली है

आधुनिक क्रिकेट के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज विराट कोहली तीनों फॉर्मेट में बेस्ट हैं हाल ही में जब आकाश चोपड़ा से पूछा गया कि वह शुभमन गिल या केएल राहुल में से किसे कोहली के रिप्लेसमेंट के रूप में देखते हैं? इस प्रश्न का उत्तर देते हुए आकाश चोपड़ा ने शुभमन गिल का नाम लिया
आकाश चोपड़ा ने बोला कि शुभमन गिल, विराट कोहली की अनुपस्थिति में टेस्ट डेब्यू करेंगे उन्होंने यह भी बोला कि केएल राहुल, पृथ्वी शॉ की स्थान पारी की आरंभ कर सकते हैं उन्होंने कहा, ''यदि आप चाहते हैं कि कोई बल्लेबाज मध्यक्रम में बल्लेबाजी करे तो शुभमन गिल को अहमियत मिलनी चाहिए ''



आकाश चोपड़ा को लगता है कि शुभमन गिल मध्यक्रम में बल्लेबाजी के मुद्दे में केएल राहुल से आगे हैं मध्यक्रम में चोपड़ा की पहली पसंद विराट कोहली की स्थान शुभमन गिल हैं उनका बोलना है कि केएल राहुल, पृथ्वी शॉ को रिप्लेस कर सकते हैं

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज शेड्यूल:
पहला टेस्ट, 17-21 दिसंबर, एडिलेड, प्रातः काल 9 बजकर 30 मिनट पर
दूसर टेस्ट, 26-30 दिसंबर, मेलबर्न, प्रातः काल 5 बजे
तीसरा टेस्ट, 7-11 जनवरी, सिडनी प्रातः काल 5 बजे
चौथा टेस्ट, 15-19 जनवरी, ब्रिस्‍बेन प्रातः काल 5 बजे

भारतीय टेस्ट टीम: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, शुभमन गिल, ऋद्धिमान साहा, ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, नवदीप सैनी, कुलदीप यादव, रविंद्र जडेजा, आर अश्विन और मोहम्मद सिराज


न्यूजीलैंड टीम के पूर्व कोच ने बताया, WTC फाइनल में कौन होगा भारतीय टीम के लिए एक्स फैक्टर

न्यूजीलैंड टीम के पूर्व कोच ने बताया, WTC फाइनल में कौन होगा भारतीय टीम के लिए एक्स फैक्टर

ICC विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल को लेकर न्यूजीलैंड के पूर्व दिग्गज कोच माइक हेसन ने एक बड़ा दावा किया है। माइक हेसन ने भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले आगामी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए टीम इंडिया के एक्स फैक्टर के तौर पर देखा है। पंत ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत में टेस्ट क्रिकेट में जो बल्ले से कोहराम दिखाया है, उसने सभी को प्रभावित किया है।

दिग्गज कोच हेसन ने कहा है, "ड्यूक बॉल स्पिन गेंदबाजों को हमेशा पसंद आती है, क्योंकि सीम ऊपर होती है। टीम इंडिया में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा के होने से बैलेंस अच्छा रहेगा। इससे टीम को पांच गेंदबाज मिल जाते हैं। इतना ही नहीं बाएं और दाएं हाथ के बल्लेबाज के खिलाफ भी फायदा मिलता है। न्यूजीलैंड में पांच बाएं जबकि छह दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं।"


न्यूजीलैंड टीम के कप्तानी कोच पद को वर्ल्ड कप 2019 के बाद छोड़ने वाले माइक हेसन ने कहा कि पंत ने ऑस्ट्रेलिया में शानदार प्रदर्शन किया था। उनको अधिक आत्मविश्वास आ गया है। इस कारण वह जैसा खेलना चाहते थे, उस तरह खेल रहे हैं। उन्हें खेलते देखना मुझे भी पंसद है। रिषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टेस्ट मैचों में अहम पारियां खेली थीं, जहां टीम एक मैच जीतने में सफल रही थी, जबकि एक मैच में पंत ने टीम को हार से बचाया था।


उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड की टीम डब्ल्यूटीसी फाइनल में चार तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकती है। पांचवें गेंदबाज के तौर पर कोलिन ग्रैंडहोम या बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज मिशेल सेंटनर को शामिल किया जा सकता है। इंग्लैंड के खिलाफ पदार्पण टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाले डेवन कॉनवे को लेकर उन्होंने कहा कि वह सीमित ओवरों के क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। ऐसे में मुझे उनके प्रदर्शन में पर कोई आश्चर्य नहीं हुआ।