इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी टोक्यो ओलंपिक को लेकर ले सकती है यह बड़ा निर्णय

इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी टोक्यो ओलंपिक को लेकर ले सकती है यह बड़ा निर्णय

इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी (आईओसी) टोक्यो ओलंपिक को स्थगित करने पर चार हफ्ते के भीतर निर्णय लेगी जबकि कनाडा ने साफ कह दिया है कि वो इन खेलों में अपनी टीम नहीं भेजेगा. 

आईओसी जापान सरकार, वैश्विक खेल अधिकारियों, प्रसारकों व प्रायोजकों से बात करके निर्णय लेगी. ओलंपिक 24 जुलाई से प्रारम्भ होने हैं. आईओसी अध्यक्ष थॉमस बाक ने खिलाडि़यों को लेटर लिखकर बताया है कि इस निर्णय में इतना समय क्यों लग रहा है.

उन्होंने लिखा, 'मैं जानता हूं कि इस अभूतपूर्व स्थिति में आपके जेहन में कई सवाल होंगे. मैं जानता हूं कि इस जज्बाती समय में इस तरह का व्यवहारिक रवैया आपको ठीक नहीं लगेगा.' इस बीच दुनिया एथलेटिक्स के अध्यक्ष सेबेस्टियन कू ने बाक को लेटर लिखकर बोला है कि जुलाई में ओलंपिक करना ना तो संभव है व ना ही उचित. उन्होंने कहा, 'कोई भी नहीं चाहता कि ओलंपिक स्थगित हों लेकिन हम खिलाड़ियों की सुरक्षा की मूल्य पर खेल नहीं करा सकते.' वहीं कनाडा ओलंपिक समिति ने बोला कि वो अपने खिलाड़ियों को इस वर्ष ओलंपिक में नहीं भेजेगी व खेल कम से कम एक वर्ष के लिए टलने चाहिए.

इसने एक बयान में कहा, 'ओलंपिक पर निर्णय तुरंत आना चाहिए. ऐसे समय में खिलाड़ियों के लिए एक्सरसाइज करना भी सुरक्षित नहीं है.' जापान के पीएम शिंजो आबे ने भी आईओसी से इस पर तुरंत निर्णय लेने को बोला है. आईओसी अब तक लगातार कहती आई है कि खेल 24 जुलाई से प्रारम्भ होंगे हालांकि कोविड-19 के चलते संसार भर में टूर्नामेंट रद्द हो गए हैं. चारों ओर से हो रही निंदा के बाद आईओसी ने आखिरकार स्वीकार किया कि ओलंपिक स्थगित करने की आसार पर विचार होने कि सम्भावना है. ब्राजील व स्लोवेनिया की ओलंपिक समिति ने भी बोला है कि इन दशा में वे अपने खिलाड़ियों को ओलंपिक के लिए नहीं भेज सकते.