भारतीय टीम आज ही के दिन वर्ल्ड कप सेमीफाइनल खेलने उतरी थी, लेकिन हुआ था कुछ ऐसा कि...

भारतीय टीम आज ही के दिन वर्ल्ड कप सेमीफाइनल खेलने उतरी थी, लेकिन हुआ था कुछ ऐसा कि...

9 जुलाईये तारीख शायद ही कोई भारतीय फैंस भुला पाएगा। अच्छा एक वर्ष पहले वर्ल्ड कप 2019 (ICC World Cup 2019) में भारतीय क्रिकेट टीम आज ही के दिन वर्ल्ड कप सेमीफाइनल खेलने उतरी थी। 

मैच का नतीजा 10 जुलाई को आया था लेकिन इसका आगाज 9 जुलाई को हुआ था। बारिश के कारण हिंदुस्तान की पारी दूसरे दिन हुई व टीम इंडिया ने ये मैच 18 रनों से गंवा दिया। न्यूजीलैंड की टीम ने स्कोबोर्ड पर महज 239 रन लगाए थे लेकिन विराट कोहली, रोहित शर्मा, एमएस धोनी, केएल राहुल जैसे दिग्गजों से लैस टीम इंडिया इतना छोटा लक्ष्य भी हासिल ना कर सकी व वर्ल्ड कप 2019 से बाहर हो गई।

9 जुलाई को क्या हुआ था?
9 जुलाईमैनचेस्टर का ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान। सिक्के की बाजी ही विराट कोहली (Virat Kohli) पराजय गए व न्यूजीलैंड के कैप्टन केन विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी। इतने दबाव भरे मुकाबले में हिंदुस्तान का पहले गेंदबाजी आना ही उसके विरूद्ध चला गया। हालांकि भारतीय गेंदबाजों ने जबर्दस्त गेंदबाजी की। बुमराह ने गप्टिल को चौथे ही ओवर में आउट कर दिया। हेनरी निकल्स व विलियमसन ने कीवी टीम का स्कोर 50 पार किया लेकिन इसके बाद जडेजा ने हिंदुस्तान को दूसरी कामयाबी दिलाई।

टिक गए टेलर व विलियमसन

भारत को जिन दो बल्लेबाजों से सबसे ज्यादा खतरा था, वही वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मैच में टिक गए। विलियमसन (Kane Williamson) ने 67 रनों की पारी खेली व रॉस टेलर ने 74 रन बनाए। बारिश के कारण न्यूजीलैंड की टीम 47 ओवर तक ही खेल सकी व अगले दिन तीन ओवर खेल उसने अपना स्कोर 239 रनों तक पहुंचाया। हिंदुस्तान के लिए भुवनेश्वर कुमार ने 3, बुमराह ने 1, पंड्या, जडेजा व युजवेंद्र चहल ने भी 1-1 विकेट झटका।

भारत के सुपरस्टार फ्लॉप
240 रन टीम इंडिया के लिए कुछ भी नहीं थे। उसके पास वर्ल्ड कप में 5 शतक जड़ने वाले रोहित शर्मा थे। संसार के सबसे बड़े बल्लेबाज विराट कोहली थे। केएल राहुल जैसा क्लास बल्लेबाज था लेकिन वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में ये तीनों ही खिलाड़ी चौथे ओवर तक पैवेलियन में पहुंच गए। इसके बाद दिनेश कार्तिक भी महज 6 रन बनाकर निपट गए। हार्दिक पंड्या व ऋषभ पंत ने अच्छी साझेदारी की लेकिन उसके बाद पंत व पंड्या ने बेहद ही बेकार शॉट खेल अपने विकेट गंवा दिये। नतीजा हिंदुस्तान ने 100 रन से पहले ही अपने 6 विकेट गंवा दिये।

धोनी व जडेजा की कमाल साझेदारी
इस अहम मुकाबले में एमएस धोनी (MS Dhoni) 7वें व जडेजा 8वें नंबर पर उतरे। इन दोनों बल्लेबाजों ने अलग ही तरह की बल्लेबाजी की। जडेजा ने तो जैसे न्यूजीलैंड पर धावा बोल दिया व 4 छक्के व 4 चौकों की मदद से 59 गेंदों में 77 रन ठोक डाले। दोनों के बीच 116 रनों की साझेदारी हुई लेकिन 48वें ओवर में बोल्ट ने इस साझेदारी को तोड़ दिया। हालांकि धोनी क्रीज पर टिके हुए थे व करोड़ों फैंस को अब भी जीत की उम्मीद थी।

आखिरी दो ओवर में 31 रन चाहिए थे व धोनी ने पहली ही गेंद पर छक्का लगाकर बताया कि वो टीम इंडिया को फाइनल में पहुंचाकर ही दम लेंगे। लेकिन 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर गप्टिल के डायरेक्ट हिट ने धोनी को रन आउट कर दिया व उनके 50 रन पर आउट होते ही हिंदुस्तान की सभी उम्मीदें खत्म हो गई। टीम इंडिया मैच पराजय गई, वर्ल्ड कप जीतने से चूक गई व टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम व करोड़ों भारतीय फैंस के घरों में मातम भी पसर गया।