गेंदबाज शोएब अख्तर व पाक के पूर्व कैप्टन राशिद लतीफ ने बाबर आजम पर खड़े किए यह सवाल

गेंदबाज शोएब अख्तर व पाक के पूर्व कैप्टन राशिद लतीफ ने बाबर आजम पर खड़े किए यह सवाल

क्रिकेट टीम की कप्तानी करना बेहद कठिन होता है लेकिन अगर वो टीम पाक हो, तो फिर क्या ही कहने। पाक क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने बल्लेबाज बाबर आजम (Babar Azam) को टी20 के बाद वनडे टीम की भी कमान सौंपी है।

 लेकिन उनके कैप्टन बनते ही कई पूर्व क्रिकेटरों ने उन्हें घेरकर दबाव बनाना प्रारम्भ कर दिया है। लगातार बाबर आजम पर बयानबाजी प्रारम्भ हो गई है। कोई उनके कपड़ों व अंग्रेजी पर सवाल खड़े कर रहा है तो कोई उनकी मानसिकता व सोच पर। तेज गेंदबाज शोएब अख्तर व पाक के पूर्व कैप्टन राशिद लतीफ ने भी बाबर आजम पर सवाल खड़े किये।

शोएब अख्तर का बाबर पर हमला
बाबर आजम (Babar Azam) ने कैप्टन बनने के बाद अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला था कि वो इमरान खान जैसे कैप्टन बनना चाहते हैं। इस मामले पर शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने बोला कि अगर बाबर आजम को इमरान खान जैसा बनना है तो उन्हें अपने व्यक्तित्व में भी परिवर्तन लाने की आवश्यकता है। WAJI स्पोर्ट्स के यूट्यूब शो पर शोएब बोले, 'बाबर आजम, इमरान खान जैसे कैप्टन बनना चाहते हैं लेकिन इसका मतलब सिर्फ क्रिकेट से जुड़ा नहीं है। उन्हें इमरान के व्यक्तित्व से बहुत कुछ सीखना होगा। ' शोएब बोले, 'बाबर आजम ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में वो बात कहीं जो हम पिछले 10 वर्षों से कर रहे हैं। हमें ये पसंद नहीं। बाबर को अपनी क्षमता, व्यक्तित्व, नेतृत्व क्षमता, फिटनेस पर बहुत कार्य करना होगा। '

'बाबर आजम की सोच ठीक नहीं'
पाक के पूर्व कैप्टन राशिद लतीफ तो इस यूट्यूब शो में कुछ ज्यादा ही आगे निकल गए। उन्होंने बाबर (Babar Azam) के विरूद्ध बोला कि उनकी सोच व मानसिकता ठीक नहीं है। लतीफ बोले, 'जब कैप्टन प्रेस कॉन्फ्रेंस करता है तो वो अपने विजन के बारे में बताता है लेकिन बाबर ने ऐसा नहीं किया। हमारे कैप्टन ऐसी चीजों के बारे में बात कर रहे थे जिसके बारे में हम पहले से जानते हैं। बाबर को स्क्रिप्ट से हटकर एक मजबूत बात कहनी चाहिए थी। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस से उन्होंने पहले ही ये बता दिया कि उनकी सोच व दृष्टिकोण ठीक नहीं है। '

बता दें पाक के पूर्व क्रिकेटर तनवीर अहमद ने भी बाबर आजम पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने बाबर आजम को कपड़े पहनने के ढंग व अंग्रेजी पर कार्य करने की सलाह दी थी। जिसके बाद बाबर आजम ने बोला था कि वो कोई गोरे नहीं हैं जो ऐसे अंग्रेजी बोलेंगे। बाबर ने बोला था कि वो अंग्रेजी पर कार्य कर रहे हैं।