जाने आखिर साउथ अफ्रीका के तूफानी बल्लेबाज क्यू हुए MS Dhoni के दीवाने

जाने आखिर साउथ अफ्रीका के तूफानी बल्लेबाज क्यू हुए MS Dhoni के दीवाने

 इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी टीम चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के मैच जिताने की काबिलियत से हर कोई वाकिफ है। पूर्व भारतीय कप्तान धौनी के हुनर के कायल दक्षिण अफ्रीका के डेविड मिलर लक्ष्य का पीछा करते हुए दबाव के हालात में भी शांतचित्त बने रहने के उनके गुण को सीखना चाहते हैं। मिलर आइपीएल में इस बार राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलेंगे। वह आठ साल तक किंग्स इलेवन पंजाब टीम में थे।

पूर्व कप्तान ने इसी साल 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की है। 2019 आईसीसी वनडे विश्व कप सेमीफाइनल मैच धौनी के करियर का आखिरी इंटरनेशनल मैच साबित हुआ। साल 2011 में लक्ष्य का पीछा करते हुए धौनी ने छक्का लगाकर भारत को विश्व चैंपियन बनाया था। बड़े-बड़े लक्ष्य को हासिल करने में धौनी को माहिर माना जाता था तभी उनकी गिनती क्रिकेट इतिहास के महान फिनिशर में की जाती है। 


मिलर ने कहा कि धौनी जिस तरह से खेलते हैं, मैं उनका कायल हूं। वह दबाव के क्षणों में भी शांतचित्त रहते हैं। मैं भी उसी तरह से मैदान पर रहना चाहता हूं। मिलर ने कहा कि बतौर बल्लेबाज उनकी भी ताकत और कमजोरियां हैं और मेरी भी। मैं लक्ष्य का पीछा करते समय उनकी तरह बल्लेबाजी करना चाहता हूं। मैं उनकी तरह फिनिशिर बनना चाहता हूं।


उन्होंने कहा कि देखते हैं कि मेरा करियर आगे कैसा होता है। उसके बाद ही मैं आकलन कर सकूंगा। धौनी दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशरों में से एक हैं और कई बार साबित कर चुके हैं। मुझे उनकी बल्लेबाजी देखना पसंद है। मिलर ने पिछले साल पंजाब के लिए 10 मैचों में 213 रन बनाए।

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ साल से मैं पंजाब के लिए ज्यादा मैच नहीं खेल रहा था और यही वजह है कि मैच भी नहीं जिता पा रहा था। अब मेरे पास ज्यादा अनुभव है और मुझे पता है कि क्या करना है।