सौरव गांगुली व सचिव जय शाह ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों से की मुलाकात

सौरव गांगुली व सचिव जय शाह ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों से की मुलाकात

 भारतीय टीम वर्ष के आखिर में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्ट खेल सकती है. इसको लेकर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली व सचिव जय शाह ने सोमवार को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के अधिकारियों से मुलाकात की. वहीं, भारतीय कैप्टन विराट कोहली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला कि हम डे-नाइट टेस्ट खेलने व किसी भी चुनौती के लिए तैयार हैं. उन्होंने बोला कि भारतीय टीम गाबा हो या पर्थ, कहीं भी खेल सकती है.

भारत ने अपना पहला डे-नाइट टेस्ट नवंबर 2019 में बांग्लादेश के विरूद्ध खेला था. टीम इंडिया ने यह मैच पारी व 46 रन से जीता था. वहीं, ऑस्ट्रेलिया ने अब तक अपने सभी 7 डे-नाइट में जीत दर्ज की है.

चार दिन के टेस्ट पर भी चर्चा

गांगुली के साथ औपचारिक मीटिंग में न्यूजीलैंड व इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के ऑफिसर भी शामिल थे. हिंदुस्तान का न्यूजीलैंड के साथ भी एक डे-नाइट टेस्ट का प्रस्ताव रखा गया था, लेकिन इस पर सहमति नहीं बन सकी. सूत्रों के मुताबिक, ईसीबी अधिकारियों ने मीटिंग में चार दिन के टेस्ट पर भी चर्चा की थी. हालांकि, अब तक क्रिकेट दिग्गजों ने इस फॉर्मेट कोनकारा है.

‘हम डे-नाइट टेस्ट खेलने व किसी भी चुनौती के लिए तैयार’
कोहली ने बोला कि भारतीय टीम में संसार में कहीं भी किसी भी टीम से मुकाबला करने की क्षमता है. हमारी टीम किसी भी फॉर्मेट में बेहतर खेल सकती है. चाहे वह सफेद गेंद हो, लाल गेंद हो या पिंक गेंद. भारतीय कैप्टन ने डे-नाइट टेस्ट के बारे में कहा, ‘‘हमने हिंदुस्तान में डे-नाइट टेस्ट खेला है. यह जिस तरह हुआ, उससे हम खुश हैं. यह किसी भी टेस्ट सीरीज की एक खास खूबी बन गया है. हम डे-नाइट टेस्ट खेलने व किसी भी चुनौती के लिए तैयार है.’’