भारतीय ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद ने इतनी बार की पराजय हासिल

भारतीय ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद ने इतनी बार की पराजय हासिल

भारतीय ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद को 150000 डॉलर इनामी लीजेंड्स ऑफ चेस औनलाइन टूर्नामेंट के अंतिम दौर में बुधवार को युक्रेन के वैसिल इवानचुक के विरूद्ध पराजय का सामना करना पड़ा,

जो प्रतियोगिता में उनकी आठवीं पराजय है. आनंद इस प्रतियोगिता में नौवें जगह पर रहे. उनके पीछे सिर्फ ग्रैंडमास्टर पीटर लेको रहे, जिन्होंने अंतिम जगह हासिल किया.

आनंद व इवानचुक के बीच चारों बाजियां ड्रॉ रही, जिसके बाद नतीजे के लिए टाईब्रेकर का सहारा लेना पड़ा लेकिन वह भी 59 चाल के बाद बराबरी पर छूटा. युक्रेन का खिलाड़ी निर्णायक बाजी में काले मोहरों के साथ खेला था, इसलिए उसे विजेता घोषित किया गया.

50 वर्ष के आनंद सात मैच अंक के साथ नौवें जगह पर रहे. मैग्नस कार्लसन टूर पर पदार्पण करते हुए उन्होंने एकमात्र जीत बोरिस गेलफेंड के विरूद्ध दर्ज की. अन्य मैचों में संसार के नंबर एक खिलाड़ी मैग्नस कार्लसन ने व्लादिमीर क्रैमनिक को 3-1 से हराकर शुरुआती चरण के सभी नौ मुकाबले जीते.

सेमीफाइनल में अब नॉर्वे के कार्लसन का सामना पीटर स्विडलर से होगा जबकि हंगरी के अनीष गिरी रूस के इयान नेपोमनियाची से भिड़ेंगे.