भारतीय ग्रैंडमास्टर पी हरिकृष्णा ने शतरंज महोत्सव के सातवें व आखिरी दौर में स्पेन के डेविड एंटोन गुइजारो को हराया

भारतीय ग्रैंडमास्टर पी हरिकृष्णा ने शतरंज महोत्सव के सातवें व आखिरी दौर में स्पेन के डेविड एंटोन गुइजारो को हराया

भारतीय ग्रैंडमास्टर पी हरिकृष्णा ने बुधवार को स्विटजरलैंड में चल रहे 53वें बील अंतर्राष्ट्रीय शतरंज महोत्सव के सातवें व आखिरी दौर में स्पेन के डेविड एंटोन गुइजारो को हराया, लेकिन उन्हें दूसरे जगह से संतोष करना पड़ा. पोलैंड के राडोस्लाव वोज्ताजेक ने स्विटजरलैंड के नोएल स्टुडेर को हराने के बाद खिताब जीता. 

काले मोहरों से खेलते हुए हरिकृष्णा ने 31 चालों में जीत दर्ज की. वोज्तानेक के 37 अंक रहे जबकि हरिकृष्णा उनसे आधा अंक पीछे रहे. ब्लिट्ज वर्ग में बेकार प्रदर्शन का खामियाता उन्हें भुगतना पड़ा, जहां उन्हें 14 मैचों में छह अंक ही मिले थे.

रैपिड वर्ग में वह दूसरे जगह पर रहे थे, जबकि चेस960 टूर्नामेंट जीता था. उन्होंने बील से पीटीआई से कहा, ''ब्लिट्ज को छोड़कर बाकी में मेरा प्रदर्शन अच्छा रहा. मुझे खुशी है कि लंबे समय बाद बोर्ड पर खेलने का मौका मिला. यहां सामाजिक दूरी का पूरा पालन किया गया व हमने मास्क पहनकर ही खेला.''

अब हरिकृष्णा 19 अगस्त से औनलाइन ओलंपियाड में हिंदुस्तान की चुनौती पेश करेंगे.