हिंदुस्तान की जीत में उसके बल्लेबाजों ने अहम सहयोग दिया, ये दो खिलाड़ी ने खेली अर्धशतकीय पारी

 हिंदुस्तान की जीत में उसके बल्लेबाजों ने अहम सहयोग दिया, ये दो खिलाड़ी ने  खेली अर्धशतकीय पारी

 मुंबई में 10 विकेट की करारी हाल झेलने के बाद टीम इंडिया के फैंस को ये लगा था कि तीन मैचों की वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया का दबदबा रहेगा। हालांकि ऐसा हुआ नहीं। राजकोट व बेंगलुरु में टीम इंडिया (India vs Australia) ने जबर्दस्त पलटवार किया व जानदार जीत हासिल करते हुए वनडे सीरीज अपने कब्जे में कर ली। वैसे तो हिंदुस्तान की जीत में उसके बल्लेबाजों ने अहम सहयोग दिया। 

राजकोट में केएल राहुल व शिखर धवन ने अर्धशतकीय पारी खेली। फिर इसके बाद बेंगलुरु में रोहित शर्मा के बल्ले से सेंचुरी निकली व विराट कोहली ने अर्धशतक जमाकर हिंदुस्तान को जीत दिला दी। हालांकि हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को लगता है कि वनडे सीरीज में हिंदुस्तान ने अपनी गेंदबाजी की वजह से सीरीज पर अतिक्रमण किया।

गेंदबाजों ने किया कमाल
पहले वनडे में एक भी विकेट नहीं लेने वाले भारतीय गेंदबाजों ने राजकोट व मुंबई में कमाल की गेंदबाजी की। जसप्रीत बुमराह ने रन रोके, वहीं नवदीप सैनी व मोहम्मद शमी ने डेथ ओवर्स में कहर बरपाती हुई यॉर्कर से ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के होश उड़ा दिए। खासकर शमी ने राजकोट में 3 व फिर बेंगलुरु में 4 विकेट लिए। सैनी ने भी अपने 3 विकेट डेथ ओवर्स में झटके।

रवि शास्त्री  (Ravi Shastri) ने टीम इंडिया की डेथ बॉलंग की तारीफ करते हुए कहा, 'अगर विरोधी टीमें हमारे विरूद्ध आखिरी 10 ओवरों में रन बनाने की प्रयास कर रही हैं तो उन्हें चौंकने पर विवश होना पड़ेगा। टीम इंडिया के पास गजब की विविधता है। खेल भले ही 130 वर्ष पुराना हो या है लेकिन यॉर्कर गेंद अब भी वनडे क्रिकेट में बेस्ट गेंद है। मुझे फर्क नहीं पड़ता बल्लेबाज कौन है, अगर हम यॉर्कर ठीक से फेंकेंगे तो बल्लेबाज जरूर आउट होगा। '
तेज गेंदबाज नवदीप सैनी को शुभकामना देते टीम इंडिया के साथी।

टीम इंडिया की वापसी पर नाज
हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने ये भी बोला कि टीम ने पहला मैच हारने के बाद शानदार व्यक्तित्व दिखाया। रवि शास्त्री ने कहा, 'लड़कों ने जानदार व्यक्तित्व दिखाया। ये मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि हम मुंबई में हारे थे व इसके बावजूद टीम को भरोसा था कि वो दो मैच लगातार जीत सीरीज पर अतिक्रमण कर सकते हैं। '