चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने अपनी टीम के उम्रदराज बल्लेबाजों से किया यह का आग्रह

चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने अपनी टीम के उम्रदराज बल्लेबाजों से किया यह का आग्रह

चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग (stephen fleming) ने अपनी टीम के उम्रदराज बल्लेबाजों से बेहतर प्रदर्शन का आग्रह करते हुए बोला कि अगर उनकी टीम इसी तरह से खेलती रही तो उनके लिए प्लेऑफ में पहुंचना दूर की कौड़ी हो जाएगा।

 चेन्नई को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (RCB) के विरूद्ध शनिवार को 37 रन से पराजय का सामना करना पड़ा। यह पिछले सात मैचों में उसकी पांचवीं पराजय है। चेन्नई की टीम की औसत आयु 30 साल से अधिक है व टीम की अगुआई 39 वर्षीय महेंद्र सिंह धोनी कर रहे हैं।

फ्लेमिंग ने मैच के बाद बोला कि अगर हमें अपने दो विदेशी खिलाड़ियों से शीर्ष क्रम में अच्छी आरंभ नहीं मिलती है तो हमारी स्थिति बेकार होती जा रही है। इसलिए हम सकारात्मक निवारण ढूंढ रहे हैं। हम बीच के ओवरों में अधिक बेहतर प्रदर्शन करने पर ध्यान दे रहे हैं।

प्लेऑफ दूर की कौड़ी
न्यूजीलैंड के इस पूर्व कैप्टन से पूछा गया कि क्या यह उनके कार्यकाल का सबसे चुनौतीपूर्ण समय है व क्या उनकी टीम के प्लेऑफ में पहुंचने की आसार है . उन्होंने बोला कि अगर हमने ऐसा ही खेलना जारी रखा तो प्लेऑफ दूर की कौड़ी बन जाएगा।

फ्लेमिंग ने बोला कि यदि कुछ अन्य कारकों पर गौर करते हो तो यह उम्रदराज टीम है। इसके अतिरिक्त परिस्थितियां है। इस स्तर पर स्पिनर अपनी थोड़ी किरदार निभा रहे हैं, लेकिन वे वैसी जरूरी किरदार नहीं निभा रहे हैं जिसके कि हम आदी रहे हैं। उन्होंने बोला कि हम प्रतिस्पर्धा करने व खेल की अपनी शैली को बदलने के ढंग ढूंढ रहे हैं बशर्ते हम अपने चयन में निरंतरता रखें। हम परिवर्तन की सोच रहे हैं। हम जीत का रास्ता खोज रहे हैं।