हिंदुस्तान के इस खिलाड़ी के नाम जुड़ा एक शर्मनाक रिकॉर्ड, बने वाइडमैन

हिंदुस्तान के इस खिलाड़ी के नाम जुड़ा एक  शर्मनाक रिकॉर्ड, बने वाइडमैन

 संसार के नंबर-1 गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड जुड़ गया है जिसे वो बिल्कुल भी याद नहीं रखना चाहेंगे। बुमराह 'वाइडमैन' बन गए हैं। पूरा मुद्दा हिंदुस्तान व न्यूजीलैंड के बीच बुधवार को खेले गए तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मैच में से जुड़ा है जिसमें टीम इंडिया को पराजय का सामना करना पड़ा था।

 इस मैच में हिंदुस्तान की दिशाहीन गेंदबाजी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टीम ने 29 अलावा रन दे डाले जिनमें 24 रन वाइड से आए।

वनडे रैकिंग में संसार के नंबर गेंदबाजों में शुमार जसप्रीत बुमराह का हाल सबसे बुरा रहा। उन्होंने सबसे ज्यादा 9 वाइड फेंकी। मो। शमी भी पीछे नहीं रहे व 6 वाइड डालीं। दोनों के अतिरिक्त शार्दुल ठाकुर ने 2, रवीद्र जडेजा व कुलदीप यादव ने 1-1 वाइड बॉल फेंकी। टीम इंडिया ने 13 वर्ष बाद वाइड के 20 से ज्यादा रन दिए। इससे पहले, 2007 में ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध वनडे में टीम इंडिया ने 26 रन वाइड से दिए थे।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कीवी टीम के सामने 348 रनों की विशाल चुनौती रखी जिसे न्यूजीलैंड ने टेलर (नाबाद 109) के 21वें शतक के दम पर इस लक्ष्य को प्रयत्न करते हुए 48.1 ओवरों में छह विकेट खोकर हासिल कर लिया। टेलर के अलावा, हेनरी निकोलस ने 78 व कार्यवाहक कैप्टन टॉम लाथम ने 69 रनों की पारी खेल टीम की जीत में अहम किरदार निभाई। यह न्यूजीलैंड द्वारा हासिल किया गया अभी तक का सबसे बड़ा लक्ष्य है। इससे पहले उसने ऑस्ट्रेलिया के विरूद्ध 2007 में इसी मैदान पर 347 रनों का लक्ष्य हासिल किया था।  

भारत ने श्रेयस अय्यर के 103 रन, लोकेश राहुल के नाबाद 88 रन व कैप्टन विराट कोहली की 51 रनों की पारियों के कारण 50 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 347 रन बनाए. लगा था कि टी-20 की तरह हिंदुस्तान वनडे में भी न्यूजीलैंड को सरलता से हरा देगा। टेलर, निकोलस व लाथम की जोड़ी इसमें रोड़ा बन गई व न्यूजीलैंड ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली।