करोड़ों रुपए के ड्रग्‍स के साथ फरार होने की फिराक में था ये ड्रग स्‍मगलर

करोड़ों रुपए के ड्रग्‍स के साथ फरार होने की फिराक में था ये ड्रग स्‍मगलर

यूएस कोस्‍ट गार्ड ने एक ऐसे ड्रग स्‍मगलर को पकड़ा है जो करोड़ों रुपए के ड्रग्‍स के साथ फरार होने की फिराक में था। हैरान करने वाली बात यह है कि यह स्‍मगलर एक पनडुब्‍बी जैसे जहाज में छिपकर भाग रहा था लेकिन इसके बाद भी नहीं बच सका और पकड़ा गया। इसका वीडियो यूएस कोस्‍ट गार्ड ने रिलीज किया है। इस स्‍मगलर के खिलाफ अब फ्लोरिडा के टैंपा बे में केस चलाया जाएगा। पनडुब्‍बी जैसे दिखने वाले इस जहाज को नार्को-सबमरींस कहा जाता है। इस जहाज में बड़े पैमान पर ड्रग्‍स छिपाकर ले जाई जाती है।

Related image

18 जून को मिली बड़ी सफलता
कोस्‍ट गार्ड अक्‍सर इस तरह के जहाजों को पकड़ने में असफल रही है। लेकिन 18 जून को यूएस कोस्‍ट गार्ड को उस समय बड़ी सफलता मिली जब कोलंबियन और इक्‍वाडोरान कोस्‍ट पर इस तरह के जहाज को पकड़ा गया। यूएस कोस्‍ट गार्ड कटर मुनरो को यह सफलता हासिल हुई और कोस्‍ट गार्ड के इस जहाज ने अपने पहले ही मिशन में बड़ी सफलता हासिल की है। इस जहाज पर दो छोटी नाव थी और एक हेलीकॉप्‍टर था। दोनों नावों पर सवार सैनिकों ने तस्‍करों को घेरा हुआ था तो आसमान से हेलीकॉप्‍टर नार्को सबमरीन पर नजर रखे हुआ था।


करना पड़ा सरेंडर
कोस्‍ट गार्ड्स के सैनिक नाव में सवार हुए और उनके हेलमेट पर कैमरा लगा हुआ था। कैमरा सारा ऑपरेशन रिकॉर्ड कर रहा था। वीडियो देखकर साफ हो गया कि तस्‍करों ने भागने की बहुत कोशिश की लेकिन असफल रहा। गार्ड्स ने आदेश दिया, 'अपनी नाव रोक दो, अभी।' एक गार्ड ने स्‍पेनिश भाषा में बोला। जब नाव नहीं रुकी तो गार्ड्स ने पिस्‍टल और नाइट विजन गॉगल्‍स के साथ तस्‍करों की पनडुब्‍बी में उतरने की योजना बना ली थी। तीन गार्ड्स अपनी नाव को छोड़कर इस 40 फिट लंबी नार्को सबमरीन में सवार हुए। इसके बाद एक तस्‍कर सामने आया और उसने गार्ड्स के आदेश पर सरेंडर कर दिया।

करोड़ों का नशीला पदार्थ

इस नार्को सबमरीन के अंदर 17,000 पाउंड कोकिन था और इसकी कीमत करीब 539 मिलियन डॉलर बताई जा रही है। लेफ्टिनेंट कमांडर स्‍टीफन ब्रिके जो कोस्‍ट गार्ड के पैसेफिक एरिया के प्रवक्‍ता हैं, उन्‍होंने इस बात की जानकारी दी। ब्रिके ने कहा कि ये तस्‍कर बिल्‍कुल किसी सफेल व्‍हेल की तरह हैं। उन्‍होंने बताया कि नार्को सब्‍स बहुत ही असाधारण हैं और पहली बार इसे पकड़ पाना उनके लिए एक बहुत ही महत्‍वपूर्ण घटनाक्रम है। 18 जून से लेकर अब तक कोस्‍ट गार्ड ने कुल 14 तस्‍करों को पकड़ा है।

दो मिनट में लेना था फैसला

ब्रिके के मुताबिक गश्‍ती दल को साल में एक या दो बार ही नार्को सबमरीन नजर आती है। इन पर सवार होना बहुत ही मुश्किल होता है। इसके अलावा स्‍मगलर्स के पास हथियार हो सकते हैं। साथ ही जब इन्‍हें पकड़ा जाता है तो तस्‍कर जहाज का का एक वॉल्‍व खोल देते हैं। इससे उसके अंदर तुरंत ही पानी भर जाता है और सारी ड्रग्‍स के साथ स्‍मगलर्स को भागने में आसानी हो जाता है। कोस्‍ट गार्ड्स के पास इस पूरी स्थित में सिर्फ दो मिनट का ही समय होता है और इस दो मिनट में ही उन्‍हें फैसला लेना होता है कि उन्‍हें जहाज को डुबने देना है या फिर उसे पकड़ना है।