UN महासचिव गुतारेस ने कहा- दो बड़ी वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं के बीच बढ़ते तनाव से परेशान हूं

UN महासचिव गुतारेस ने कहा- दो बड़ी वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं के बीच बढ़ते तनाव से परेशान हूं

संयुक्त राष्ट्र: व्यापारिक व भू- सियासी तनावों के बढ़ने के साथ संयुक्त देश महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने चेताया है कि संसारदो प्रतिस्पर्धी समूहों में बंट सकती है, जिनमें एक का नेतृत्व अमेरिका करेगा व दूसरे का चीन।

चीन और अमेरिका के बीच के तनावों का जिक्र करते हुए गुटेरेस ने कहा, 'दो बड़ी वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं के बीच बढ़ते तनाव से मैं परेशान हूं। ' हालांकि, गुतारेस ने चाइना और अमेरिका का नाम नहीं लिया।

गुतारेस ने कहा, 'हमें शीत युद्ध से सबक लेने की आवश्यकता है व नए युद्ध से बचने की आवश्यकता है। ' वैश्विक तौर पर खतरों का विवरण देते हुए गुटेरेस ने 'शांति के लिए कूटनीतिक कोशिश तेज करने' का वादा किया।

शीत युद्ध के परिदृश्य की तरफ संभावित वापसी के बारे में उन्होंने कहा, 'भविष्य में ज्यादा दूर नहीं जाते हुए मैं दो प्रतिस्पर्धी समूहों का उदय होता देखता हूं। इसमें प्रत्येक के पास अपनी मुद्रा, व्यापार व वित्तीय नियम, उनके खुद के इंटरनेट व आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रणनीति व उनके विरोधाभासी भू- सियासी और सैन्य दृष्टिकोण हैं। '

उन्होंने कहा, 'हमारे पास अभी भी इससे बचने का समय है। । नेतृत्व के रणनीतिक योगदान के प्रति प्रतिबद्धता और प्रतिस्पर्धा के हितों के प्रबंधन से हम संसार को एक सुरक्षित रास्ते पर ले जा सकते हैं। '

यह उभरता खतरा अमेरिका और चाइना के बीच कई मोर्चो पर दिख रहा है। इसमें अमेरिका और चाइना के बीच अवरुद्ध वार्ता के बीच टैरिफ और जावाबी टैरिफ का व्यापार युद्ध शामिल है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को 300 अरब डॉलर के चीनी सामानों के आयात पर 10 प्रतिशत कर की घोषणा की।

अमेरिका संभावित जासूसी के भय के बीच चाइना की 5जी संचार प्रणाली के अपनाने पर रोक लगाने की प्रयास कर रहा है। इसमें हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चाइना और दूसरे लोकतंत्र के बीच विवाद शामिल है। चाइना 'वन रोड, वन बेल्ट' के जरिए अपने व्यापार औरविकास को विस्तार दे रहा है।