इतने सालो तक मौके का इंतजार कर रहा था यह वर्ल्‍ड चैंपियन खिलाड़ी मगर टीम में नहीं मिल सकी जगह

इतने सालो तक मौके का इंतजार कर रहा था यह वर्ल्‍ड चैंपियन खिलाड़ी मगर टीम में नहीं मिल सकी जगह

बाबा अपराजित (Baba Aparajith) के हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर तमिलनाडु (Tamil Nadu) ने रेलवे (Railways) को आठ विकेट से हराकर विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) क्रिकेट टूर्नामेंट के ग्रुप सी में लगातार सातवीं जीत दर्ज की। अपराजित ने 124 गेंद में सात चौकों व एक छक्के की मदद से नाबाद 111 रन बनाए। इससे पहले उन्होंने 30 रन देकर चार विकेट चटकाए। रेलवे के 50 ओवरों में नौ विकेट पर 200 रन के जवाब में तमिलनाडु ने लक्ष्य 44.1 ओवर में हासिल कर लिया। तमिलनाडु के सात जीत के साथ 28 अंक है व नॉकआउट चरण में उसका प्रवेश तय है। गुजरात छह मैचों में छह जीत के साथ दूसरे जगह पर है।



पहले बाबा ने फिरकी में उलझाया
रेलवे ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए मनीष राव (55) व प्रथम सिंह (43) की पारियों के वश 9 विकेट पर 200 रन बनाए। इन दोनों बल्‍लेबाजों के अतिरिक्त बाकी बल्‍लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाए। इन्‍होंने दूसरे विकेट के लिए 50 रन जोड़े। मुरुगन अश्विन ने इस जोड़ी को तोड़ा। इसके बाद बाबा अपराजित की फिरकी ने जादू बिखेरा व रेलवे के बल्‍लेबाज उनके सामने घनचक्‍कर हो गए। एक समय रेलवे का स्‍कोर 34.5 ओवर में 138 रन पर 2 विकेट था। लेकिन अगले 11.4 ओवर में 8 विकेट 62 रन पर गिर गए। टीम सारे ओवर भी नहीं खेल पाई।

बाबा ने शंकर के साथ मिलकर खेली मैचविनिंग पारी
इसके जवाब में तमिलनाडु की आरंभ भी बेकार रही व 12 रन पर मुरली विजय (6) और अभिनव मुकुंद (11) पवैलियन लौट गए। लेकिन बाबा अपराजित ने हरफनमौला विजय शंकर (72 रन) के साथ तीसरे विकेट के लिये 186 रन जोड़े। विजय शंकर (Vijay Shankar) ने अपराजित का बखूबी साथ दिया व अर्धशतक उड़ाया। उन्‍होंने अपनी पारी में 113 गेंदों का सामना किया व 3 चौके और एक छक्‍का लगाया।

शंकर इस वर्ष चोटों से जूझते रहे हैं। विजय हजारे ट्रॉफी में भी वे चोट के बाद वापसी कर रहे थे। अभी तक इस टूर्नामेंट में उन्‍होंने बल्‍ले व गेंद से अच्‍छा प्रदर्शन किया है। वे 2 अर्धशतक लगा चुके हैं।

अंडर-19 वर्ल्‍ड कप जीता, 5 वर्ष धोनी के साथ रहे बाबा अपराजित
वहीं 2012 में अंडर 19 वर्ल्‍ड कप जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्‍य रहे बाबा अपराजित ने विजय हजारे ट्रॉफी में जबरदस्‍त प्रदर्शन किया है। वे रन बनाने में सबसे आगे हैं। उन्‍होंने 7 मैचों में 109.75 की औसत से 439 रन बनाए हैं। वे 4 अर्धशतक व 1 शतक बना चुके हैं।

वे आईपीएल में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के सदस्‍य रहे हैं हालांकि उन्‍हें खेलने का मौका नहीं मिला। 2018 की नीलामी में उन्‍हें किसी ने खरीदा नहीं था। वे 5 वर्ष तक एमएस धोनी की कप्‍तानी वाली आईपीएल टीमों (चेन्‍नई और राइजिंग पुणे सुपरजाएंट) के साथ रहे लेकिन खेलने का मौका नहीं मिला।