इस खिलाड़ी ने खोला अपने जीवन का यह सबसे बड़ा राज, आप भी जाने

इस खिलाड़ी ने खोला अपने जीवन का यह सबसे बड़ा राज, आप भी जाने

हिंदुस्तान की महान टेनिस महिला खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने दुनिया इकोनॉमिक फोरम में बोलते हुए खुद से जुड़ी कई रोचक बातों का खुलासा किया है. उन्होंने बोला कि बचपन में उनसे एक लड़की होने के नाते टेनिस छोड़ने को बोला गया था. सानिया मिर्जा के अनुसार, मुझसे एक बार बोला गया था कि मैं टेनिस खेलना छोड़ दूं वर्ना मेरा रंग काला हो जाएगा व कोई मुझसे विवाह तक नहीं करेगा.तीन डबल्स व तीन ही मिक्‍स्ड डबल्स ग्रैंडस्लैम खिताब जीत चुकीं सानिया मिर्जा ने अपने संबोधन में इस बात का जिक्र किया कि करियर के दौरान उन्होंने किन-किन चुनौतियों का सामना किया.

उन्होंने बोला 'मुझे शायद यह बताने की आवश्यकता नहीं है कि माता-पिता, पड़ोसी, चाचा-चाची कैसे इस बात को कभी आपसे बोलना नहीं भूलते कि यदि धूप में बाहर जाकर खेले तो फिर आपका रंग काला पड़ जाएगा व आपसे कोई विवाह नहीं करेगा। मैं तब सिर्फ आठ वर्ष की थी, जब मुझसे भी ऐसा ही बोला जाने लगा। सभी को ऐसा लगने लगा था कि कोई भी मुझसे विवाह नहीं करेगा क्योंकि मेरा रंग काला हो जाएगा। व मैं मन में ही सोचती थी कि मैं अभी एक बच्ची हूं व सब अच्छा हो जाएगा। 32 वर्ष की सानिया ने बोला कि मुझे यह कल्चर बहुत ज्यादा कचोटता है कि आखिर क्यों एक लड़की को सुंदर होना ही चाहिए, खासकर गोरा। मुझे नहीं पता कि ऐसा क्यों है। हमें इस चलन को बदलना होग. उन्होंने बोला कि वह पीटी उषा को देखते हुए बड़ी हुई हैं.