7 करोड़ के सवाल पर आकर अटके यह कंटेस्टेंट, पत्नी को बोली वजह

7 करोड़ के सवाल पर आकर अटके यह कंटेस्टेंट, पत्नी को बोली वजह

बिहार के गौतम कुमार झा 'कौन बनेगा करोड़पति 11' में 1 करोड़ रुपए जीतने वाले सीजन के तीसरे कंटेस्टेंट बने. उनसे पहले बिहार के सनोज राज व महाराष्ट्र की बबीता तायड़े 15 सवालों के ठीक जवाब देकर यह रकम अपने नाम कर चुके हैं. उम्मीद की जा रही थी कि गौतम 7 करोड़ रुपए जीत सकते हैं. लेकिन वे 16वें सवाल के जवाब को लेकर सुनिश्चित नहीं थे. इसलिए उन्होंने गेम छोड़ने का निर्णय लिया. गौतम इंडियन रेलवे वे में सीनियर सेक्शन इंजीनियर हैं. दैनिक भास्कर से खास वार्ता में उन्होंने अपनी जीत का श्रेय पत्नी को दिया.

  1. गौतम के मुताबिक, एक वक्त ऐसा भी आया, जब उन्हें लगा कि वे 3 लाख रुपए भी नहीं जीत पाएंगे. ऐसे में होस्ट अमिताभ बच्चन ने उनका हौसला बढ़ाया व वे 7 करोड़ रुपए के सवाल तक पहुंच गए. बकौल गौतम, "मैंने 7 सवाल तक ही तीन लाइफलाइन्स का प्रयोग कर लिया था व फिर ऐसा लगने लगा था कि मैं 3 लाख रुपए भी नहीं जीत पाऊंगा. तब अमिताभ सर ने बहुत मोटिवेट किया. उन्होंने मुझे सचेत होकर खेलने की सलाह दी."

  2. गौतम कहते हैं, "मेरी पत्नी 'केबीसी' की बहुत बड़ी फैन है. वह पिछले 19 वर्षों से इस शो को देख रही है. पिछले वर्ष उसने मुझे इसमें भाग लेने के लिए बोला था, लेकिन मैंने प्रयास नहीं की. इस वर्ष फिर से उसने मुझे बोला कि प्रयास तो करो, देखना एक ही बार में आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा. जैसा उसने कहा, बिल्कुल वैसा ही हुआ. आज उसकी की वजह से मैं इस मुकाम पर पहुंच पाया हूं."

  3. गौतम कहते हैं, "सच कहूं तो पैसा जीतने से ज्यादा इस बात की खुशी हो रही है कि मुझे अमिताभ सर से मिलने का मौका मिला. यकीन मानिए मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि एक दिन अमिताभ सर के सामने बैठकर उनसे बात करूंगा. यह मेरी खुशकिस्मती थी कि पहले अटेम्प्ट में ही मुझे शो में आने का मौका मिला व मैं करोड़पति बन गया. मैंने कई लोगों को इस शो में आने की प्रयास करते व असफल होते देखा है. उन्हें देखकर मुझे अपना सिलेक्शन भी असंभव सा लगता था. लेकिन शो की टैगलाइन बहुत ही मोटिवेटिंग हैं, 'विश्वास है तो उस पर खड़े रहो, अड़े रहो.' मैंने भी यही किया."

  4. शो की तैयारी को लेकर गौतम बताते हैं, "बचपन से ही मुझे जनरल नॉलेज में इंटरेस्ट रहा है. ऐसा नहीं है कि मैंने 'केबीसी' के लिए कोई खास तैयारी की. मुझे हमेशा से हर वस्तु के बारे में जानने की ललक रही है. हां, इस शो की तैयारी के लिए मैंने एक किताब जरूर खरीदी थी, जो भारतीय संस्कृति पर आधारित थी. शो में इससे जुड़े कई सवाल होते हैं. मैं भारतीय संस्कृति के बारे में जरूर पढ़कर गया था. इसके अतिरिक्त कोई खास तैयारी नहीं की."

  5. गौतम ने बताया, "यह एक ऐसा मंच है, जहां आपको चाहे कितना भी ज्ञान क्यों न हो, नर्वसनेस हो ही जाती है. परफॉर्मेंस का प्रेशर रहता है, जिसकी वजह से आपको सरल सवाल भी कठिन लगता है. टीवी पर जब सरल सवाल पर कोई लाइफलाइन का प्रयोग करता था तो मुझे हंसी आती थी. लेकिन जब खुद यहां आया तो प्रेशर महसूस किया. तब लगा कि इस शो की एक भी स्टेज सरल नहीं है. चाहे वह फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट हो या सरल से सवाल का जवाब देना."

  6. बकौल गौतम, "1 करोड़ के सवाल पर बहुत नर्वस था. मुझे जवाब आता था, लेकिन मैं श्योर नहीं था. तब अमिताभ सर ने बोला कि आपको अपने ऊपर थोड़ा सा भी भरोसा है तो जवाब को लॉक कर सकते हैं. तब मुझे लगा कि मैंने कहीं तो इसके बारे में पढ़ा है व जिस तरह उन्होंने मेरा हौसला बढ़ाया, उसे देख मैंने खुद पर भरोसा रखते हुए जवाब लॉक करने का कह दिया."

  7. जीती हुई रकम के प्रयोग को लेकर गौतम के दो मुख्य प्लान हैं. एक खुद के लिए व दूसरा अपनी सोसाइटी के लिए. वे कहते हैं, "खुद के लिए मैं अपनी राजधानी पटना में एक घर लेना चाहता हूं. दूसरा मेरी वाइफ की ख़्वाहिश हमारे गांव की गरीब लड़कियों को उनकी पढ़ाई में मदद करने की है. उसे पूरी करने की प्रयास करूंगा."