भारत के प्रधान मंत्री की कार से कई ज्यादा सुरक्षित है इन राष्ट्राध्यक्षों की कार

भारत के प्रधान मंत्री की कार से कई ज्यादा सुरक्षित है इन राष्ट्राध्यक्षों की कार

किसी देश के पीएम व राष्ट्रपति उस देश के लिए बहुत ज्यादा सम्मान रखते हैं जिसे देखते हुए उस देश की सरकार उन्हें महत्वपूर्ण सुरक्षा प्रदान करती है जिससे उनकी जान को किसी तरह का ख़तरा ना हो. इस सुरक्षा में अहम किरदार निभाती है इन राष्ट्राध्यक्षों की कारें जो उन्हें किसी भी खतरे से भी सुरक्षित रखती है. ऐसे में हमारे देश के पीएम नरेंद्र मोदी की कार को भी बहुत ज्यादा सुरक्षित बनाया गया है. तो चलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस देश के राष्ट्राध्यक्ष की कार सबसे ज्यादा ताकतवर है.

PM मोदी की कार

पीएम मोदी इस समय सबसे ज्यादा सेफ बीएमडब्ल्यू 7 सीरीज कार चलते हैं. इंजन व क्षमता की बात की जाए तो इस कार में 6592 सीसी का 12 सिलेंडर वाला इंजन दिया गया है जो कि 600 बीएचपी की क्षमता व 800 न्यूटन मीटर का टार्क जनरेट करता है. 8 स्पीड ऑटोमैटिक गियर बॉक्स से लैस ये कार बहुत ज्यादा ज्यादा दमदार है. ये कार मात्र 3.7 सेकंड में 0-100 किमी प्रति घंटे की स्पीड पकड़ लेती है. वहीं अधिकतम गति की बात की जाए तो ये कार 250 किमी प्रति घंटे की गति से दौड़ती है.

इस कार में ऐसे सेंसर दिए गए हैं जो कि बम या मिसाइल का पता लगा लेते हैं. इस पर ग्रेनेड का प्रभाव नहीं होता है व खिड़की पर 44 कैलिबर की हैंडगन से भी फायर किया जाए तो शीशे को कोई नुकसान नहीं होगा. अगर कोई पीएम पर हमला करता है तो इस कार के अंदर बैठे पीएम बिल्कुल सुरक्षित रहेंगे. इस कार की बॉडी बहुत ही ज्यादा मजबूत व सुरक्षित है. सबसे खास बात तो ये है कि इसका वजन बहुत ज्यादा कम है, जिसकी वजह से ये गोली की स्पीड से दौड़ सकती है. इस कार के टायर अगर पंचर भी हो जाएं तो भी ये कार 90 किमी प्रति घंटे की गति से 320 किमी तक दौड़ सकती है.

ट्रंप की कार

Donald Trump जिस गाड़ी में चला करेंगे इसकी मार्केट में मूल्य करीब 10 करोड़ रुपए की है. इस कार को जनरल मोटर्स ने मैन्यफैक्चर किया है. 800बीएचपी वाली इस कार में लगभग 8000 सीसी के इंजन का प्रयोग किया गया है. अमरीका के राष्ट्रपति की इस कार में सेफ्टी विशेषता का खास तौर पर ख्याल रखा गया है. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें इस कार के दरवाजे बोइंग 747 प्लेन जितने मजबूत है. इस कार में आक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था की गई है. ऑक्सीजन के लिए कार में पीछे की साइड ***** स्पेस (डिक्की) मे ऑक्सीजन सप्लाय व फायर फाइटिंग सिस्टम लगाया गया है.

यूएस के प्रेजिडेंट की कार के शीशे इतने मजबूत है इन पर किसी धमाके का भी कोई प्रभाव नहीं होता है. पेट्रोल टैंक की सेफ्टी के लिए इसे स्पेशल फोम के साथ डिजाइन किया गया है जो इसे फटने व टकराने की स्थिति में आग लगने से बचाता है. इस कार में पीछे की ओर प्रेसिडेंट कंपार्टमेंट है जिसका पार्टिशन ग्लास से किया गया है. केवल प्रेसिडेंट ही इसे हटा सकते हैं. इसमें पैनिक बटन लगा है जिसे दबाने पर राष्ट्रपति तक तुरंत मदद पहंच जाती है. इस कार के टायर भी बहुत ज्यादा मजबूत बनाए गए है व यह एक ब्लास्ट प्रूफ कार है.

किम जोंग उन की कार

नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की ज़िंदगी संसार के लिए किसी रहस्य से कम नहीं है. किम जोंग उन मर्सडीज बेंज एस600 पुलमैन गार्ड कार 'लिमोजीन' प्रयोग करते हैं. इस कार की मूल्य 1.57 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 10.74 करोड़ रुपये है. जानकारी के मुताबिक़ इस कार में 517 हॉर्सपावर की ताकत वाला 5.5 लीटर, बाई टर्बो, वी12 इंजन लगा है. किम की गाड़ी हथियारों से लैस है. इस कार के अंदर इंटिग्रेटेड स्टील प्रोटेक्शन पैनल्स लगाए गए हैं. इस कार पर हमला होने के बाद भी इसके अंदर बैठे शख्स को चोट नहीं आती है.

पुतिन की कार

इंजन व क्षमता की बात की जाए तो इस कार में 4.4 लीटर वी8 टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन दिया गया है जो कि 600 बीएचपी का क्षमता व 880 न्यूटन मीटर का टार्क जनरेट करता है. 9 स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन को रूस में बनाया गया है जो कि इसे ज्यादा ताकत देता है. इस कार का कुल वजन आर्मर की वजह से 5 टन से ज्यादा है. इस कार के शक्तिशाली इंजन को पोर्शे ने बनाया है.

इंटीरियर

इंटीरियर की बात की जाए तो इस कार का इंटीरियर बहुत ज्यादा ज्यादा शानदार है, जो कि सभी तरह के कनेक्टिविटी विशेषता से लैस है. इस कार पर अगर गोलाबारी, ग्रेनेड धमाका व मशीन गन से हमला किया जाएगा तो अंदर बैठा आदमी बच सकता है. रासायनिक हमले के वक्त ऑक्सीजन सप्लाई टैंक व ब्लड की भी व्यवस्था है. अगर इस कार का टायर पंचर भी हो जाएगा तो भी ये कार चल सकती है.

पुतिन की इस कार का नाम कोर्टेज औरस (Cortege Aurus) है, जिसे बनाने में 5 साल से ज्यादा का समय लगा है. इस कार को रूस के केंद्रीय वैज्ञानिक अनुसंधान ऑटोमोबाइल व मोटर वाहन इंजन संस्थान ने सॉलर्स जेएससी कंपनी से साथ मिलकर बनाया है. इस कार को रूस के Federal Protective Service (FSO) द्वारा पहले प्रयोग की जाने वाली सुरक्षित कार मर्सिडीज एस 600 पुलमैन Mercedes S600 Pullman की स्थान लाया गया है. इस कार को रूस में ही बनाया गया है, जिसे बनाने के लिए बॉश (Bosch) व पोर्शे (Porsche) की मदद ली गई है. लुक व डिजाइन की बात की जाए तो ये कार देखने में रोल्स रॉयस फैंटम जैसी लगती है.