इसलिए दिन-रात लड़ते हैं पति-पत्नी, रिसर्च में हुआ खुलासा

आप शादीशुदा हैं व साथी से आपकी आये दिन किसी न किसी बात को लेकर कहा-सुनी या बात-बात पर लड़ाइयां होती हैं जिसे लेकर आप अक्सर दुखी रहते हैं व सोचते हैं कि अब आपमें पहले जैसा प्यार नहीं रहा तो यह बात गलत है। पार्टनर से प्यार होने की वजह से कई बार हम संबंध में आई तल्खियों के लिए खुद को कसूरवार ठहराते हैं। लेकिन एक रिसर्च में चौंकाने वाली बात सामने आई है।

Related image

अमेरिका में रिश्तों में बढ़ती झगड़ा व लड़ाइयों को लेकर शादीशुदा जोड़ों पर एक रिसर्च की गई जिसमें 1000 करोड़ कपल्स शामिल थे। इसमें रिजल्ट आने के बाद यह बात सामने आई कि पति-पत्नी के संबंध कैसे हैं उनके जीन (gene) पर निर्भर करता है। रिसर्च में कपल्स से उनकी पर्सनल जिंदगी, उनके संबंधों व साथी के व्यवहार, संबंध की तल्खियों को लेकर सवाल पूछे गए थे।रिसर्च में पता चला कि ऑक्सीटोसिन रिसेप्टर जीन लोगों के हार्मोन पर बहुत ज्यादा ज्यादा प्रभाव करता है। यही वजह है कि विवाह के कुछ समय बाद ही कपल्स का बिहेवियर बहुत ज्यादा बदल जाता है। हार्मोन के कम-ज्यादा होने की वजह से लोगों में अवसाद व तनाव बढ़ जाता है जिसकी खीज कई बार वो अपने साथी पर निकालते हैं।

Image result for पति-पत्नी के लड़ाई झगड़े

रिसर्च में ऐसे शादीशुदा जोड़ों को भी शामिल किया गया था जो अपने संबंध में बहुत ज्यादा खुश थे। उनके जीन का पारीक्षण करने पर पता चला कि उनमें OXTR नामक जीन नदारद था। इस आधार पर शोधकर्ताओं ने यह माना कि शादीशुदा संबंध की सफलता व उसमें प्यार बरकरार रखने के लिए जीन की किरदार बहुत ज्यादा जरूरी होती है।