SIT को मिला स्वामी चिन्‍मयानंद के काले कारनामों का अहम् सबूत, अब होगा खुलासा

SIT को मिला स्वामी चिन्‍मयानंद के काले कारनामों का अहम् सबूत, अब होगा खुलासा

बीजेपी ( बीजेपी ) के नेता व पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. चिन्मयानंद के विरूद्ध बलात्कार मुद्दे में SIT ने उनपर शिकंजा कसना प्रारम्भ कर दिया है.

इस मुद्दे में एसआईटी के ऑफिसर पीड़ित छात्रा व उसके परिवार को लेकर हॉस्टल गए. वहां पहुंचने के बाद जाँच ऑफिसर हॉस्‍टल के कमरे की घंटों तक छानबीन करते रहे.

5 घंटे तक चली तलाशी

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एसआईटी ने पीड़िता के कमरे की करीब पांच घंटे तक तलाशी ली. पीड़ित लड़की के दोस्त ने SIT के अधिकारियों को एक Pen Drive दी है. दोस्त के मुताबिक Pen Drive में चिन्मयानंद के विरूद्ध अहम वीडियो साक्ष्य हैं. पीड़ित छात्रा ने भी शिकायत में कई वीडियो साक्ष्य होने की बात कही थी.

यौन उत्पीड़न का मुद्दा अभी तक नहीं हुआ दर्ज

इस मुद्दे में पीड़ित परिवार आरोप लगा रहा है कि SIT सरकार के असर में कार्य कर रही है. अब तक लड़की की शिकायत के बाद भी चिन्मयानंद के विरूद्ध यौन उत्पीड़न करने का मुद्दा दर्ज नहीं किया गया है. जबकि SIT लड़की से अब तक 15 घंटे से ज्यादा पूछताछ कर चुकी है, लेकिन चिन्मयानंद से अभी तक पूछताछ नहीं हुई है.

IG नवीन अरोड़ा की अध्यक्षता में गठित SIT पिछले तीन दिनों से शाहजहांपुर में डेरा डालकर मुद्दे की जाँच में जुटी है.

पीड़िता ने किया सबूत होने का दावा

बता दें कि एसआईटी की आधा दर्जन गाड़ियां मंगलवार को आकस्मित चिन्मयानंद (Chinmayanand) के लॉ कॉलेज के हॉस्टल पहुंचीं. उनके साथ बलात्कार का इल्‍जाम लगाने वाली लड़की व उसके पिता भी थे.

पीड़ित लड़की ने कल प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला था कि बलात्कार के सबूत उसके हॉस्टल के कमरे में हैं. आरोप लगाने वाली लड़की ने बोला था कि सबूत ठीक समय आने पर दे दिए जाएंगे. हॉस्‍टल के रूम में सारे सबूत सुरक्षित हैं. पीड़िता ने जाँच अधिकारियों से हॉस्टल का रूम खुलवाने की अपील की थी.

एसआईटी की टीम मंगलवार को सारे दिन उसके हॉस्टल के कमरे की छानबीन करती रही. उसके साथ आए फोरेंसिक एक्सपर्टों ने वहां से बहुत सारे नमूने उठाए.