दो दिवसीय भूटान यात्रा के लिए रवाना हुए पीएम मोदी, जतायी यह उम्मीद

दो दिवसीय भूटान यात्रा के लिए रवाना हुए पीएम मोदी, जतायी यह उम्मीद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय भूटान यात्रा के लिए रवाना हो गए है. प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने रवाना होने से पहले उम्मीद जतायी कि भूटान के नेतृत्व के साथ उनकी वार्ता सार्थक रहेगी व विश्वास जताया कि इससे हमारी मित्रता व मजबूत होगी. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का यह दूसरा भूटान दौरान है.

Image result for पीएम मोदी,

पीएम मोदी ने एक वक्तव्य जारी कर कहा, “मैं द्विपक्षीय संबंधों के तमाम पहलुओं पर भूटान नरेश, पूर्व नरेश व वहां के पीएम के साथ सार्थक वार्ता को लेकर आशान्वित हूं. मैं भूटान के रायल विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को संबोधित करने को लेकर भी उत्सुक हूं.” उन्होंने बोला मुझे विश्वास है कि इस यात्रा से हमारी भूटान के साथ वर्षों से जांची परखी मित्रता व मजबूत होगी तथा दोनों राष्ट्रों के लोगों की समृद्धि तथा प्रगति का मार्ग प्रशस्त करेगी.

प्रधानमंत्री ने बोला कि दूसरे कार्यकाल के प्रारम्भ में भूटान की इस यात्रा से पता चलता है कि हिंदुस्तान अपने पड़ोसी भूटान के साथ संबंधों को कितना अधिक महत्व देता है. उन्होंने बोलाकि दोनों राष्ट्रों ने पिछले साल राजनयिक संबंधों की स्थापना की स्वर्ण जयंती मिलकर मनायी थी. दोनों राष्ट्रों की मित्रता विशेष है व हिंदुस्तान की पड़ोसी पहले की नीति का यह जरूरीस्तंभ है.

सूत्रों के अनुसार, दोनों राष्ट्रों के बीच इस दौरान कम से कम दस करारों पर हस्ताक्षर होने की आसार है व पांच परियोजनाओं का उद्घाटन किया जायेगा. मेंगदेछू पनबिजली परियोजना का भी इसी दौरान उद्घाटन किया जा सकता है. वह एक प्रोग्राम भारतीय रूपे कार्ड को भी वहां लांच करेंगे. इससे पहले रूपे कार्ड सिंगापुर में भी लांच किया जा चुका है. पीएम भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के एक ग्राउंड स्टेशन का उद्घाटन करेंगे.

पीएम मोदी का भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक व भूटान के पूर्व नरेश जिग्मे सिंग्ये वांगचुक से मिलने का प्रोग्राम है. वह पीएम लोतेय शेरिंग के साथ विभिन्न विषयों पर द्विपक्षीय वातार् भी करेंगे. पीएम भूटान के रॉयल विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों को संबोधित भी करेंगे. वह राष्ट्रीय स्मारक पर भी जायेंगे.