FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर आने को छटपटा रहा पाक, FATF के 125 सवालों पर सौंपे ये जवाब

FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर आने को छटपटा रहा पाक,  FATF के 125 सवालों पर सौंपे ये जवाब

आतंकवादियों की पनाहगाही व वित्तपोषण के लिए कुख्यात पाक अपनी छवि सुधारने के लिए भरपूर प्रयास कर रहा है. अपनी इन्हीं हरकतों के कारण पाक इस वक्त FATF (फाइनेंशल एक्शन टास्क फोर्स) की ग्रे लिस्ट में है. इस सूची से बाहर आने को छटपटा रहे पाक ने सोमवार को FATF के 125 सवालों का विस्तार से जवाब सौंपा है.

ये जवाब ही FATF में पाक का किस्मत तय करेंगे. अगर पाकिस्तान के जवाब संतोषजनक नहीं हुए तो वह ब्लैकलिस्ट में डाल दिया जाएगा. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि FATF एक संस्था है, जो अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के वित्तपोषण की निगरानी करती है.

पाकिस्तान के वित्त मंत्री हमद अजहर ने सौंपा जवाब

बैंकॉक में पाक की तरफ से FATF बातचीत का नेतृत्व कर रहे पाक के वित्त मंत्री हमद अजहर ने जवाबों वाली रिपोर्ट सौंपी है. पाकिस्तान की ओर से 15 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल रविवार को बैंकॉक पहुंचा था. सोमवार को FATF के एशिया प्रशांत संयुक्त समूह ने अन्य राष्ट्रों के साथ मिलकर पाक की अनुपालन रिपोर्ट की समीक्षा करने के लिए चार दिवसीय मीटिंग प्रारम्भ कर दी है. समूह संयुक्त रूप से मंगलवार को पाक द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट पर चर्चा करेगा. ये बातचीत 13 सितंबर तक जारी रहेगी.

अक्टूबर में होगा फैसला

बता दें कि पेरिस में 16-18 अक्टूबर को होने वाली FATF की मीटिंग के बाद पाक की भाग्य का निर्णय लिया जाएगा. तब ही इस बात का खुलासा होगा कि पाक ग्रे लिस्ट में रहेगा, लिस्ट से बाहर आएगा या फिर ब्लैकलिस्ट में डाल दिया जाएगा.

22 अगस्त को ब्लैकलिस्ट हुआ था पाक

FATF की मीटिंग में मनी लॉन्ड्रिंग व आतंकवादी फंडिंग पर लगाम लगाने के लिए इस्लामाबाद ने क्या कदम उठाए हैं, इसपर विचार किया जा रहा है. इसके साथ ही पाकिस्तानी अधिकारियों को अवैध गतिविधियों को रोकने व अवैध संगठनों व समूहों की संपत्ति को फ्रीज करने के कदमों के बारे में पूछताछ की जाएगी. बताते चलें कि इससे पहले 22 अगस्त को एशिया पैसिफिक ग्रुप (APG) ने पाक को मानदंड पूरा ना कर पाने के कारण ब्लैक लिस्ट में भी डाल दिया था.