15 अगस्‍त व रक्षाबंधन के दिन चीनी मांझे ने एक सिविल इंजीनियर की ले ली जान

15 अगस्‍त व रक्षाबंधन के दिन चीनी मांझे ने एक सिविल इंजीनियर की ले ली जान

दिल्‍ली (Delhi) में चीनी मांझा एक बार फिर जानलेवा साबित हुआ। 15 अगस्‍त (Independence Day) पर रक्षाबंधन (Raksha bandhan) के दिन चीनी मांझे (chinese manjha) ने एक सिविल इंजीनियर की जान ले ली।

Related image

मानव शर्मा नाम का यह 28 वर्षीय युवक स्‍कूटर पर अपनी दो बहनों के साथ किसी रिश्‍तेदार के घर जा रहा था। तभी पश्चिम विहार इलाके में चीनी मांझा उसकी गर्दन में अटक गया व बहुत ज्यादा गहरा घाव कर दिया।

पुलिस के मुताबिक मांझे ने गर्दन में इतना गहरा घाव कर दिया कि वह स्‍कूटर रोकता उससे पहले ही गिर पड़ा। मौके पर पहुंचे लोगों ने युवक को नजदीकी अस्‍पताल में पहुंचाया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। हालांकि इस घटना में दोनों छोटी बहनों को कोई नुकसान नहीं हुआ।

बताया जा रहा है कि युवक बुध विहार में रहता था व एक प्राइवेट बिल्‍डर के यहां बतौर सिविल इंजीनियर कार्य करता था। वैसे पुलिस ने मुद्दा दर्ज कर लिया है।

15 अगस्‍त को चीनी मांझे की मिलीं 15 शिकायतें

दिल्‍ली पुलिस के मुताबिक स्‍वतंत्रता दिवस पर होने वाली पतंगबाजी के दौरान चीनी मांझे से घायल होने की 15 शिकायतें मिलीं। जिनमें आठ लोग घायल हो गए। वहीं 17 मुद्दे आईपीसी की धारा 188 के तहत दर्ज किए गए। जिनमें लोग ग्‍लास कोटेड चीनी मांझे का इस्‍तेमाल पतंग उड़ाने के लिए कर रहे थे।

सुप्रीम न्यायालय ने लगाया है बैन
उच्चतम न्यायालय ने देशभर में ग्‍लास कोटेड व अन्‍य खतरनाक मांझों के इस्‍तेमाल पर पाबंदी लगाई हुई है। इसके बावजूद राजधानी में न केवल ऐसा मांझा खरीदा गया बल्कि इस्‍तेमाल भी किया गया।