सऊदी से ऑयल की आपूर्ति बाधित की गई: डोनाल्ड ट्रंप

सऊदी से ऑयल की आपूर्ति बाधित की गई: डोनाल्ड ट्रंप

दुनिया की बड़ी ऑयल उत्पादक कंपनी अरामको के दो प्लांट पर हमले के बाद ऑयल की आपूर्ति बाधित होने से इस महीने के अंत तक देश में में पांच से छह रुपये प्रति लीटर का इजाफा होने कि सम्भावना है। ऐसा एक्सपर्ट का अनुमान है। कोटक की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में कच्चे ऑयल के दाम में उछाल आने के कारण हिंदुस्तान की ऑयल कंपनियां आने वाले 15 दिनों डीजल व गैसोलीन के दाम में कर सकती हैं। अगर यह अनुमान ठीक हुआ तो दिल्ली में पेट्रोल की मूल्य सितंबर के अंत तक 78 रुपये प्रति लीटर हो सकती है। मंगलवार को दिल्ली में पेट्रोल 72.17 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

57 लाख बैरल ऑयल का उत्पादन बाधित हुआ
सऊदी अरब के ऑयल संयंत्रों पर हमले के बाद सोमवार को ऑयल का दाम तकरीबन 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 71 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर चला गया था। हालांकि बाद में इसमें कुछ गिरावट आई। ऑयल उत्पादक कंपनी सऊदी अरामको ने एक बयान में कहा, 'हमले के कारण प्रतिदिन 57 लाख बैरल ऑयल का उत्पादन बाधित हुआ है। ' जानकारों ने बताया कि संसार की दूसरी सबसे बड़ी ऑयल उत्पादक कंपनी अरामको पर हमले के कारण ऑयल के दाम में अगले कुछ दिनों के दौरान तेजी बनी रहेगी।

उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट के जरिये कहा, 'हमले से सऊदी अरब से ऑयल की आपूर्ति बाधित की गई है। इस कारण हमारा मानना है कि हम दोषी को जानते हैं, लेकिन हम किंगडम की ओर से सुनना चाहते हैं कि वे किसे हमले का जिम्मेदार मानते हैं व हम किन शर्तों के तहत इस पर कार्रवाई करेंगे। ' किंगडम के आंतरिक मामलों के मंत्री ने बोला कि शनिवार को आरामको के दो प्रमुख ऑयल संयंत्रों पर हमला करने का दावा यमन के हौती विद्रोहियों ने किया है।