जम्‍मू-कश्‍मीर : BDC के लिए चुनाव कराने की तैयारियां जोरों पर

जम्‍मू-कश्‍मीर : BDC के लिए चुनाव कराने की तैयारियां जोरों पर

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) की 316 ब्‍लॉक डेवलपमेंट काउंसिल (BDC) के लिए चुनाव कराने की तैयारियां जोरों पर हैं। उम्‍मीद की जा रही है कि सूबे में बीडीसी का चुनाव अक्‍टूबर में होने कि सम्भावना है।

ये चुनाव 31 अक्‍टूबर को जम्‍मू-कश्‍मीर के औपचारिक तौर पर केंद्रशासित राज्‍य घोषित होने से पहले कराए लिए जाएंगे। बताया जा रहा है कि सूबे में बीडीसी चुनाव प्रोग्राम की घोषणा एक या दो दिन में की जा सकती है। इन चुनावों को केन्द्र सरकार (Central Government) के जम्‍मू-कश्‍मीर में दशा सामान्‍य होने के दावों के पहले परीक्षण के तौर पर देखा जाएगा। साथ ही बीडीसी चुनावों के नतीजों से जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 (Article-370) हटाने के नरेन्द्र मोदी सरकार (Modi Government) के निर्णय को लेकर लोगों का रुख भी स्‍पष्‍ट हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव के कारण स्‍थगित कर दिए गए थे राज्‍य के बीडीसी चुनाव
नेशनल कांफ्रेंस (NC) व पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) जैसे जम्‍मू-कश्‍मीर के सियासी दलों के बड़े नेता और कार्यकर्ता हिरासत में हैं। ऐसे में देखने वाली बात होगी कि ये पार्टियां चुनावों में किस अंदाज में शामिल होंगी। द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, एक वरिष्‍ठ ऑफिसर ने बताया कि बीडीसी चुनावों को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मतदाता सूची भी दुरुस्‍त कर ली गई है। उम्‍मीद की जा रही थी कि राज्‍य में पंचायत चुनाव (Panchayat Elections) के बाद बीडीसी चुनाव होंगे, लेकिन लोकसभा चुनाव, 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के कारण इन्‍हें स्‍थगित कर दिया गया।

पिछले वर्ष पंचायत और निकाय चुनाव में क्षेत्रीय पार्टियों ने किया था विरोध

बीडीसी चुनाव जम्‍मू-कश्‍मीर में पंचायती राज व्‍यवस्‍था को पूरी तरह से लागू करने का अगला चरण है। दिसंबर, 2018 में पंचायत चुनाव के बाद पीएम नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने राज्‍य की 316 बीडीसी के लिए चुनाव कराने की घोषणा कर दी थी। पिछले वर्ष नवंबर-दिसंबर में जम्मू और कश्मीर में लोकतंत्र की बुनियाद पक्की करने के लिए पंचायत व निकाय चुनाव कराए गए थे। इनमें 35,096 पंच व 4,490 सरपंच चुने गए थे। बता दें कि इन चुनावों के दौरान क्षेत्रीय पार्टियों ने जबरदस्‍त विरोध प्रदर्शन करते हुए बहिष्‍कार की घोषणा कर दी थी।

गृह मंत्री अमित शाह ने जुलाई में सूबे के सरपंचों से की थी मुलाकात
जम्‍मू-कश्‍मीर में बीडीसी चुनाव को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह व उपराष्‍ट्रप‍ति एम। वेंकैया नायडू की हाल में मुलाकात हुई थी। अमित शाह ने जुलाई में कश्‍मीर दौरे पर सरपंचों से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्‍होंने बोला कि चुने गए पंचायत प्रमुख केन्द्र सरकार के मिशन को आगे लेकर जाएंगे। शाह ने इस दौरान राज्‍य के लिए 3,700 करोड़ रुपये का पैकेज देने का वादा भी किया था। सरकार ने क्‍लास-1 अधिकारियों के लिए 'गांवों की ओर चलो' (Back to the Villages) प्रोग्राम भी लॉन्‍च किया था ताकि वे पंचों के साथ मिलकर ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े विकास कार्यक्रमों को पूरा कर सकें।