अगर आप भी चाय पीने के है शौकीन, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

अगर आप भी चाय पीने के है शौकीन, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

ज्यादातर मामलों में देखा जाता है कि लोग लिक्विड डाइट के नाम पर हैल्दी जूस या दूध के बजाय चाय को ज्यादा पसंद करते हैं.

इसके अतिरिक्त लोगों को दिनभर की चाय से ज्यादा प्रातः काल की बेड टी अच्छी लगती है. स्वास्थ्य के नजरिए से देखा जाए तो चाय आदमी को आलसी बनाने के साथ ही कई रोगों की गिरफ्त में भी ले आती है. जानें इसके कुछ अन्य नुकसानों के बारे में-

ज्यादा गर्म न पीएं चाय -
कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रिसर्च व जर्नल की बात करें तो एकदम गर्म चाय पीने के नुकसान बहुत ज्यादा ज्यादा हैं. इससे खाने व सांस की नली पर सीधा प्रभाव होने से इन्हें क्षति पहुंचती है. फूड पाइप व गले के कैंसर का खतरा आठ गुना बढ़ जाता है. गले के साथ पेट व आंतों की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है.
ये करें - चाय का तापमान पीने के दौरान इतना होना चाहिए कि जीभ से लेकर पेट तक कोई परेशानी न हो.

खाली पेट न पीएं - चाय में कई तरह के एसिड पाए जाते हैं. ऐसे में प्रातः काल बेड टी के रूप में चाय पीने से नुकसान होने कि सम्भावना है. चाय पीने से ये एसिड्स सीधे पेट की अांतरिक सतह को क्षति पहुंचाते हैं. कई शोधों में यह भी सामने आया है कि जो लोग खाली पेट अधिक चाय पीते हैं उन्हें उसी समय से लेकर दिनभर थकान का अहसास ज्यादा होता है. यदि बेड टी ज्यादा कड़क पीते हैं तो पेट में अल्सर व एसिडिटी की संभावना भी बढ़ जाती है.
ये करें : यदि आप खाली पेट चाय पी रहे हैं तो प्रयास करें कि एक-दो बिस्किट, टोस्ट या कुकीज साथ में लें. यदि आप बिना बेड टी के खुद को रिफ्रेश महसूस नहीं करते हैं तो दूध वाली चाय के बजाय ब्लैक टी पी सकते हैं.

दूध की चाय भी ठीक नहीं- कई विशेषज्ञों के अनुसार चाय बनाते समय जैसे ही इसमें दूध डलता है, इसमें उपस्थित तत्त्व और एंटीऑक्सीडेंट्स समाप्त हो जाते हैं. खाली पेट दूध वाली चाय पीने से शरीर में थकान बनी रह सकती है.
ये करें : दूध वाली चाय के बजाय ब्लैक-टी, ग्रीन-टी या हर्बल-टी पी जा सकती है.

भोजन के तुरंत बाद न पीएं - कुछ लोगों का मानना है कि भोजन करने के बाद चाय की एक चुस्की खाने को पचाने में मदद करती है. लेकिन ऐसा करना शरीर के लिए ठीक नहीं है. असल में चाय में टेनिन तत्त्व होता है. यह तत्त्व भोजन करने के बाद आहार में उपस्थित आयरन के साथ रिएक्ट कर सकता है. जिसका शरीर पर निगेटिव प्रभाव होता है खासकर पाचनतंत्र पर.
ये करें : भोजन व चाय के बीच कम से कम 2-3 घंटे का गैप होना चाहिए. रात के खाने से पहले व बाद चाय से परहेज करें.