दोस्‍त की पत्‍नी को धोके से ले गया होटल व् फिर

दोस्‍त की पत्‍नी को धोके से ले गया होटल व् फिर

आजकल आने वाले क्राइम के मुद्दे सभी को दंग कर रहे हैं। ऐसे में जो मुद्दा हाल ही में सामने आया है वह हल्द्वानी का है। इस मुद्दे में होटल में दोस्त की पत्नी से बलात्कार करने के दोषी को द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश मोहम्मद सुल्तान की न्यायालय ने दस वर्ष की सजा सुना दी गई है। इस मुद्दे में उस पर साढ़े 27 हजार का अर्थदंड भी लगाया है व बताया गया है कि मूल रूप से गड्डीतल्ला, थाना उजानी, जिला बदायूं (उत्तर प्रदेश) निवासी युवक की कारागार में बंद होने के दौरान पिछले वर्ष एक अन्य बंदी से दोस्ती हुई थी।

इस मुद्दे में युवक ने कारागार से बाहर निकलने पर उसकी जमानत कराने का वादा किया था व इस पर साथी बंदी ने उसे अपनी पत्नी का नंबर भी दे दिया। वहीं बीते 16 अगस्त 2018 को युवक ने दिल्ली में रहने वाली दोस्त की पत्नी को लालकुआं बुलाया व बोला कि वह उसके पति की जमानत कराएगा, व उस दिन न्यायालय बंद होने पर महिला वापस लौटने लगी तो युवक ने अगले दिन न्यायालय खुलने की बात कहकर उसे लालकुआं के ही एक होटल में ठहरा दिया। वहीं सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता घनश्याम पंत और गिरीजा शंकर पांडे ने बताया कि ''रात में कमरे में पहुंचे युवक ने महिला और उसके दो वर्ष के बच्चे को जान से मारने की धमकी देकर महिला से बलात्कार किया व इधर, पति के रिहा होने पर महिला ने लालकुआं थाने में बलात्कार समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया। ''

इस मुद्दे में शासकीय अधिवक्ता पंत ने बताया कि ''गवाहों के परीक्षण के बाद न्यायालय ने युवक को दस वर्ष की सजा सुनाई है। अन्य धाराओं में तय की गई सजा भी साथ चलेगी।