मेवात में तीन तलाक में नए कानून के तहत FIR, पति पर फोन से तलाक देने का आरोप

मेवात में तीन तलाक में नए कानून के तहत FIR, पति पर फोन से तलाक देने का आरोप

नई दिल्ली: तीन तलाक (triple talaq ) देना देश में भले ही कानून बन गया हो लेकिन तलाक देने के मुद्दे थमने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मुद्दा हरियाणा के मेवात का है. तीन तलाक कानून बनने के बाद एक शौहर ने अपनी पत्नी को तीन तलाक दे दिया है.

नए कानून के तहत पहला मुद्दा दर्ज

पति के विरूद्ध तीन तलाक के खिलाफ नए कानून के तहत FIR दर्ज हुई है. दरअसल मेवात के नूह की साजिदा ने अपने पति सलाहुद्दीन पर नए ट्रिपल तलाक कानून के तहत मुद्दा दर्ज कराया है.

Image result for तीन तलाक

महिला ने पति व ससुरालवालों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया

दरअसल महिला ने अपने पति व ससुराल वालों के विरूद्ध पुलिस में प्रताड़ना की शिकायत की थी. इससे नाराज होकर पति ने फोन पर तीन तलाक दे दिया. पत्नी का आरोप है कि सलाहुद्दीन ने उसे फोन पर तलाक, तलाक, तलाक बोला व रिश्‍ता तोड़ दिया.

मजिस्ट्रेट न्यायालय से जमानत

महिला अधिकार संरक्षण कानून 2019 बिल में प्रावधान है कि एक कोई पति एक साथ तीन तलाक देता है तो उसके विरूद्ध केस दर्ज किया जाएगा व पुलिस बिना वारंट तीन तलाक देने वाले आरोपी पति को अरैस्ट कर सकती है. थाने या चौकी से उसे जमानत नहीं मिलेगी बल्कि मजिस्ट्रेट न्यायालय से जमानत मिलेगी

तीन वर्ष की सजा व जुर्माने के प्रावधान

गौरतलब है कि तीन तलाक बिल में तीन तलाक को अवैध बनाते हुए 3 वर्ष की सजा व जुर्माने का प्रावधान है. तीन तलाक पर नए कानून के तहत अगर पति अपनी पत्नी को तलाक देता है तो पत्नी या उसके करीबी सम्बन्धी ही इस बारे में केस दर्ज करा सकेंगे.