FIA ने गुजरांवाला से भारतीय जासूस को पकड़ने का किया दावा

FIA ने गुजरांवाला से भारतीय जासूस को पकड़ने का किया दावा

गुजरांवाला. कुलभूषण जाधव मुद्दे पर करारी पराजय मिलने से बौखलाए पाक ने भारतीय जासूस पकड़ने का दावा किया है. पाकका दावा है कि संघीय जाँच एजेंसी ( FIA ) ने शुक्रवार को गुजरांवाला से एक भारतीय नागरिक को हिरासत में लिया है, जो पिछले 10 सालों से फर्जी पासपोर्ट व दस्तावेजों के साथ शहर में रह रहा था.

FIA के अनुसार, बनारस के रहने वाले पंजम तिवारी ने 2009 में दुबई में गुजरांवाला के रहने वाले कामरान से मुलाकात की. कुछ समय बाद कामरान की मदद से तिवारी पाक आ गए.

उप निदेशक FIA आमिर नवाज ने मीडिया को बताया कि तिवारी ने अपने दोस्त के माध्यम से एक कम्प्यूटरीकृत राष्ट्रीय पहचान लेटर ( CNIC ) सहित दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा किया. सभी दस्तावेजों में नाम बदलकर बिलाल कर दिया व एक पाकिस्तानी महिला से विवाह कर ली.

तिवारी ने बदला अपना धर्म

उन्होंने बताया कि तिवारी साथ ही कामरान समेत पांच अन्य लोगों के विरूद्ध मुद्दा दर्ज किया गया था. शनिवार को तिवारी को पांच दिन के लिए FIA की हिरासत में भेज दिया गया है.

FIA के उप निदेशक ने बोला कि तिवारी को उनकी रिमांड पूरी होने के बाद न्यायालय के सामने पेश किया जाएगा. तिवारी ने FIA को दिए अपने बयान में बोला कि वह कामरान से दुबई में मिले थे जो कि उसका बिजनेस पार्टनर है. बाद में उनसे प्रेरित होकर उन्होंने अपना धर्म बदल लिया.

उन्होंने आगे बोला कि एक मानव तस्कर ने उसे पाक ले आया था जहां उसने कामरान की बहन से विवाह की थी व उसके तीन बच्चे हैं. तिवारी ने कहा, वह अपना धर्म बदलने के बाद हिंदुस्तान लौटने से डरते थे.

बता दें कि इससे पहले बुधवार को पाकिस्‍तान ने दावा किया कि उसने एक 'भारतीय जासूस' को हिरासत में लिया है. इसे पाक के पंजाब प्रांत से पकड़ा गया है. पुलिस की पूछताछ में उसने स्वीकार किया है कि वह यहां पर जासूसी कर रहा था.

पुलिस ने बताया था कि पकड़े गए भारतीय 'जासूस' की पहचान राजू लक्ष्‍मन के रूप में की गई है. बुधवार को राजू को लाहौर से 400 किमी दूर डेरा गाजी खान जिले से हिरासत में लिया गया. पुलिस का बोलना था कि राजू लक्ष्‍मण बलूचिस्‍तान से डेरा गाजी खान जिले में दाखिल हो रहा था.