चीन ने कहा, हांगकांग में हो रहे हिंसक प्रदर्शन के लिए अमरीका दोषी

चीन ने कहा, हांगकांग में हो रहे हिंसक प्रदर्शन के लिए अमरीका दोषी

वाशिंगटन. चाइना ने हांगकांग में बीते कई माह से हो रहे प्रदर्शन को लेकर अमरीका को दोषी ठहराया है. उसका आरोप है कि कि हांगकांग में बड़े पैमाने पर हो रहे हिंसक प्रदर्शनों के पीछे वॉशिंगटन का हाथ है. विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के हाल के उस बयान को लेकर सवाल किए है. जिसमें उन्होंने बोला था कि हांगकांग में विरोध प्रदर्शनों से निपटने में चाइना को 'ठीक' से कार्य करना चाहिए.

प्रवक्ता का बोलना है कि अमरीका को इस तरह का हस्ताक्षेप नहीं करना चाहिए. उल्लेखनीय है कि पोम्पिओ विदेश मंत्री बनने से पहले अमरीका खुफिया एजेंसी सीआईए के निदेशक थे. हांगकांग में प्रदर्शनों की आरंभ एक विवादित विधेयक को लेकर हुई थी.इसके परित होने के बाद हांगकांग में किसी आरोपी को चाइना प्रत्यर्पित करने का मार्ग प्रशस्त हो जाता.

विवादित प्रत्यर्पण बिल के विरूद्ध हांगकांग एयरपोर्ट स्टाफ का प्रदर्शन

पोम्पिओ खुद को ठीक स्थिति में नहीं रख रहे

इस विरोध प्रदर्शनों ने व्यापक रूप ले लिया है व अब लोकतांत्रिक सुधारों तथा सार्वभौमिक मताधिकार आदि की मांग की जा रही है. चुनयिंग ने पोम्पिओ के बयान का जिक्र करते हुए बोला कि उनका मानना है कि पोम्पिओ खुद को ठीक स्थिति में नहीं रख रहे हैं. मुझे लगता है कि वह अभी भी खुद को सीआईए प्रमुख समझते हैं. वह सोचते हैं कि हांगकांग में हिंसक व्यवहार उचित है क्योंकि अमरीका ने भी इसमें सहयोग दिया है.