धारा 370 हटाए जाने का निर्णय का ब्रिटेन ने भी किया समर्थन, लेटर में लिखी यह बात

धारा 370 हटाए जाने का निर्णय का ब्रिटेन ने भी किया समर्थन, लेटर में लिखी यह बात

जम्‍मू-कश्‍मीर से नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा संविधान की धारा 370 हटाए जाने के निर्णय का ब्रिटेन के सांसद बॉब ब्‍लैकमैन ने भी समर्थन किया है। सांसद ब्‍लैकमैन ने ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन को इस सम्बन्ध में एक लेटर भी लिखा है।

Image result for ब्रिटेन के सांसद बॉब ब्‍लैकमैन

इसमें उन्‍होंने हिंदुस्तान का समर्थन करते हुए बोला है कि हिंदुस्तान सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 हटाने में संवैधानिक प्रक्रिया का पालन किया है। उन्‍होंने उसमें यह भी लिखा है कि जम्‍मू-कश्‍मीर हिंदुस्तान का हिस्‍सा व ये हिंदुस्तान का आतंरिक मुद्दा भी है।

ब्रिटेन के सांसद बॉब ब्‍लैकमैन ने पीएम बोरिस जॉनसन को लिखे गए लेटर में बोला गया है कि उन्‍होंने लेबर पार्टी के कई सांसदों को लोगों के बीच जम्‍मू कश्‍मीर से हटाई गई धारा 370 के निर्णय के विषय में भड़काऊ लेटर बांटते हुए देखा है। उन्होंने लिखा कि 'ऐसे में मैं बोलना चाहूंगा कि किसी भी किस्म का संवैधानिक फेरबदल हिंदुस्तान का आतंरिक मसला है। मैं यह भी बोलना चाहूंगा कि हमारा एक समझौता है कि हम किसी भी तीसरे देश के भीतरी मामलों में किसी भी तरह का दखल नहीं देंगे। विशेष कर तब जब ये मुद्दा हिंदुस्तान जैसे हमारा पुराना दोस्‍त का हो।

वहीं कश्मीर मामले पर संसार भर में अलग-थलग पड़े पाकिस्‍तान को अमेरिका की तरफ से भी करारा झटका मिला है। पाकिस्‍तानी पीएम इमरान खान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद की मीटिंग से पहले अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप को फोन किया था। उनका उद्देश्य ट्रंप से समर्थन मांगने का था। लेकिन डोनाल्‍ड ट्रंप की तरफ से पाकिस्तान पीएम इमरान खान को दो टूक जवाब मिला। डोनाल्‍ड ट्रंप ने उनसे बोला कि हिंदुस्तान व पाकिस्‍तान अपने मामले द्विपक्षीय वार्ता द्वारा हल करें।