तूफान के तांडव से पहले जारी किया गया अलर्ट

तूफान के तांडव से पहले जारी किया गया अलर्ट

गुजरात के तट से टकराने में 'वायु' तूफान को 24 घंटे से भी कम का वक्त बचा है। 140 से 165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाला 'वायु' तूफान गोवा और मुंबई से गुजरने के बाद गुजरात पहुंचेगा। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि 'वायु' तूफान 13 जून को सुबह 3 से 4 बजे के बीच गुजरात के तट से टकराएगा। जब यह तूफान गुजरात के तट से टकराएगा तो उस वक्त इसकी रफ्तार करीब 165 किमीटर तक हो सकती है। इसके साथ ही मौसम विभाग ने सौराष्ट्र और कच्छ में भारी बारिश की भी आशंका जताई है। जिन 10 जिलों में तूफान का सबसे ज्यादा असर होगा, उनमें कच्छ, द्वारिका, पोरबंदर, राजकोट, मोरबी, अमरेली, भावनगर, जामनगर और गिरी सोमनाथ शामिल है। गुजरात के अलावा महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और दमन-दीव में तूफान का असर देखने को मिल सकता है।


'वायु' तूफान के आने से पहले इससे होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए तैयारी शुरू हो चुकी है। मोदी सरकार से लेकर रुपाणी सरकार तक पर अलर्ट हैं। दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह ने हाईलेवल मीटिंग की है, जिसमें आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी बड़े अफसर मौजूद थे। संबंधित विभाग को तत्काल सभी प्रभावी कदम उठाने के निर्देश मिले हैं। गुजरात में एनडीआरएफ की 36 टीमें तैनात की गई हैं। हर टीम में 45 सदस्य हैं। सभी टीम नाव, पेड़ काटने के औजार और जरूरी उपकरणों से लैस हैं। कोस्टगार्ड, आर्मी, नेवी और वायुसेना को भी अलर्ट पर रखा गया है। 10 कंपनियां आर्मी की भेजी जा रही हैं, जबकि 24 कंपनी स्टैंड बाई पर हैं।