देश के इन हिस्सों मे जारी हुआ अलर्ट इंजीनियर की टीमे की गयी तैनात, यह है कारण...

देश के इन हिस्सों मे जारी हुआ अलर्ट इंजीनियर की टीमे की गयी तैनात, यह है कारण...

पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान व अंडमान व निकोबार द्वीप समूह समेत देश के कई हिस्सो में मंगलवार को मौसम विभाग ने भारी बारिश की आसार जताई है. मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, पश्चिम बंगाल व सिक्किम में भी सारे दिन भारी बारिश देखने को मिल सकती है.

अंडमान निकोबार में तेज हवाएं
मौसम विभाग के मुताबिक मराठावाड़ा, कोंकण, गोवा, तटीय आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा, तटीय कर्नाटक व तमिलनाडु, पुडुचेरी व कराईकल में तेज बारिश होने का अनुमान है. विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अंडमान निकोबार द्वीप समूह में 50-60 किमी प्रति घंटा के हिसाब से तेज गति की हवा चल सकती है व गरज के साथ बारिश भी हो सकती है. इसके अतिरिक्त झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम व ओडिशा में कड़कती बिजली के साथ बारिश होने के संभावना हैं.

मप्र व राजस्थान में 16 आपदा प्रबंधन व सात इंजीनियर टीम तैनात
गृह मंत्रालय ने सोमवार को बोला कि राजस्थान व मध्य प्रदेश में कुल 16 आपदा प्रबंधन व सात इंजीनियर की टीमों को तैनात किया गया है, जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बचाव काम की देखरेख कर रहे हैं.मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट कर बताया की राजस्थान मे 11 आपदा प्रबंधन की टीम व चार इंजीनियर दल तैनात हैं. झालावाड़, कोटा, सवाई माधोपुर व धौलपुर जिलों में बचाव अभियान जारी है. मध्य प्रदेश में पांच राहत व बचाव काम व तीन इंजीनियरिंग टीम तैनात है. भिंड, श्योपुर व मुरैना में बचाव अभियान चल रहा है.मंत्रालय ने यह भी बताया कि वायुसेना के हेलिकॉप्टरों को इमरजेंसी उद्देश्यों के लिए स्टैंडबाय पर रखा गया है.

मध्य प्रदेश को बहुत ज्यादा नुकसान
मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों में अत्यधिक बारिश व बाढ़ के कारण बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है. प्रदेश के मुख्य सचिव सुधीरंजन मोहंती ने इसकी जानकारी दी. इसमें से 8,000 रुपये का नुकसान फसलों को नुकसान व बाकी 2,000 करोड़ रुपये के नुकसान में घरों व अन्य संपत्ति को हुआ है.मोहंती ने सोमवार को बताया की नीमच, मंदसौर व आसपास के अन्य क्षेत्रों में भारी वर्षा के कारण पैदा हुई स्थिति से निपटने के कोशिश जारी हैं.